Lahsun (garlic) ke faayde aur upyog. benefits of Garlic - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Thursday, January 31, 2019

Lahsun (garlic) ke faayde aur upyog. benefits of Garlic

लहसुन के फायदे और उपयोग  benefits of Garlic  

लहसुन (गार्लिक) खाने के बहुत से फायदे होते हैं। लहसुन के अनेक फायदों के कारण आयुर्वेद में लहसुन को रसायन माना गया है आमतौर पर हम लहसुन का इस्‍तेमाल खाने में तड़का लगाने या ग्रेवी बनाने के लिए करते हैं।  लहसुन किसी भी बेजान सब्‍जी के स्‍वाद को जानदार बना देता है।  लेकिन लहसुन में ऐसे गुणकारी तत्‍व मौजूद होते हैं जो आपको कई बीमारियों से दूर रखते हैं। 

            लहसुन(garlic) के ऐसे चमत्कारिक फायदों के कारण आयुर्वेद में लहसुन को औषध‍ि माना गया है और इसे रसायन कहा गया है।  किसी न किसी रूप में लहसुन को अपने भोजन में जरूर शामिल करना चाहिए। सबेरे के नाश्ते में 2 से 3 लहसुनकी कलियाँ चबाकर  खाने से आपको सबसे ज्‍यादा फायदा होगा।

        लहसुन खाने से हाई बीपी में आराम मिलता है। पेट से जुड़ी बीमारियों जैसे डायरिया और कब्‍ज की रोकथाम में लहसुन बेहद उपयोगी है यहां पर हम इन्‍हीं फायदों के बारे में बता रहे हैं। 

garlic

लहसुन के फायदे और उपयोग -

1. हृदय रोग में -- 

लहसुन खाने से हाई बीपी में आराम मिलता है. दरअसल, लहसुन ब्‍लड सर्कुलेशन को सही  करने में काफी मददगार है। हृदय की धमनियों को शुद्ध करने के कारण यह हमें हृदय रोग से दूर रखता है।  हाई बीपी की समस्‍या से जूझ रहे लोगों को रोजाना लहसुन खाने की सलाह दी जाती है।


2. पेट की बीमारियों में -

पेट से जुड़ी बीमारियों जैसे डायरिया और कब्‍ज की रोकथाम में लहसुन बेहद उपयोगी है। पानी उबालकर उसमें लहसुन की कलियां डाल लें, खाली पेट इस पानी को पीने से डायरिया और कब्‍ज से आराम मिलेगा। 

       अगर आपका पेट खराब रहता है या जल्‍दी जल्‍दी इंफेक्‍शन के श‍िकार हो जाते हैं तो भुना लहसुन खाएं। इसके सेवन से सीने में जलन, उल्‍टी और पेट की खराबी आद‍ि दूर करने में मदद मिलती है। यही नहीं लहसुन शरीर के अंदर मौजूद जहरीलें पदार्थों को बाहर निकालने का काम भी करता है।
  
also read -

  1. benefits of lemon.nimbu ke fayde
  2. medical insurance for family


garlic


3. पाचन सुधारने में 

लहसुन खाने से पाचन शक्ति मजबूत बनती है। यह कई रोगों को समाप्त करता है। लहसुन में मौजूद ‘एलायसिन’ नामक पदार्थ जैसे ही शरीर में पहुंचता है, वह पाचन संबंधी हर समस्या को खत्म करने का काम आरंभ कर देता है। 

              इसके अलावा लहसुन में काफी बड़ी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है और सबसे अच्छी बात है कि इसमें  कैलोरी बिल्कुल भी नहीं होती। यह फास्फोरस, कैल्शियम और लोहे जैसे खनिजों में समृद्ध है, साथ ही इसमें आयोडीन, सल्फर और क्लोरीन जैसे खनिज भी होते है।

4. सर्दी-जुक़ाम में 

लहसुन में मौजूद एलिसिन रोगजनकों को रोकता है और वायरल और बैक्टीरिया संक्रमण से लड़ने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके अलावा, लहसुन पूरक प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है।

                 सर्दी जुकाम में शीघ्र लाभ के लिए लहसुन का प्रयोग उत्तम है।  एक दिन में सिर्फ 2-3 कली कच्चे लहसुन लेना पर्याप्त है । चाहें तो इसे सूप मे मिला कर लें या  इसकी चाय बना कर भी  पी सकते है।
garlic in plate



5. त्वचा रोगों में - 

यह त्वचा और शरीर के एंटीऑक्सीडेंट स्तर को बढ़ाने के लिए भी जाना जाता है। लहसुन में मौजूद सल्फर संक्रमण को रोकता है और सूजन को कम करने में मदद करता है। यह रक्त प्रवाह को बढ़ाता है जिससे त्वचा को एक प्राकृतिक चमक मिलती है।

         इसका उपयोग त्वचा रोगों जैसे मुँहासे, ब्लैकहेड, व्हाइटहेड, झुर्रियां आदि के लिए किया जा सकता है। जिन लोगों को कच्चा लहसुन खाने में परेशानी हो वो इसकी चटनी बनाकर शहद के साथ सेवन कर  सकते हैं। इसे बारीक काटकर पानी द्वारा निगलना ज्यादा फायदेमंद होगा। 


6. सेक्‍स हार्मोन बनाता है 

लहसुन में ऐलीसिन नाम का पदार्थ होता है जो पुरुषों के मेल हार्मोन यानी सेक्‍स हार्मोन के स्‍तर को ठीक रखता है। इससे पुरुषों में इरेक्‍टाइल डिस्‍फंक्‍शन दूर होता है। 

        वहीं लहसुन में सेलेनियम और भारी मात्रा में विटामिन पाए जाते हैं, जिससे स्‍पर्म क्‍वालिटी बढ़ती है। सोने से पहले दूध में लहसुन की कलियाँ उबालकर पीने से पौरुष शक्ति में वृद्धि होती है। यह कमजोरी दूर करता है।

सावधानियाँ -- 

वैसे तो लहसुन गुणों की खान है परन्तु सर्जरी या ऑपरेशन होने से पहले इसका सेवन नहीं चाहिए क्योंकि यह ब्लड के फ्लो को बढ़ा देता है अतः सर्जरी के समय परेशानी हो सकती है।

             लो  ब्लड प्रेशर वालों को भी इसके सेवन से बचना चाहिए। गर्मी के मौसम में इसके अधिक सेवन से बचें। सीमित मात्रा में  साल भर इसका प्रयोग किया जा  सकता है। जिन्हे कोई रोग नहीं हैं, वे इसका सेवन करके रोगों से बचे रह सकते हैं। 

           आशा है "लहसुन (garlic)के फायदे और उपयोग"  यह पोस्ट आपको उपयोगी लगी होगी, इसे शेयर करें और अपनी अमूल्य राय कमेंट द्वारा बताएं।ऐसी ही उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विजिट करते रहें।  

 Related post -
  1. dalchini ek-faayde anek 
  2.  anar ke laabh

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad