Positive attitude kaise rakhen? - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Saturday, January 19, 2019

Positive attitude kaise rakhen?


पॉजिटिव attitude कैसे रखें -

जीवन में सफलता का मीठा स्वाद भी मिलता है, तो कभी असफलता का कड़वा घूँट भी पीना होता है। सफलता मिलने पर जहां ख़ुशी से चेहरा खिल उठता है वहीं  असफलता व्यक्ति को तोड़ने का प्रयास करती है,ऐसे में पॉजिटिव attitude कैसे रखें?  यह प्रश्न महत्वपूर्ण है।

              किसी ने कहा  है - '' खुद को कभी कमजोर साबित ना होने दें  क्यूँकि डूबते सूरज को देख लोग घरों के दरवाजे बंद कर लेते हैं''.  जीवन में हार मिलने पर निराशा होती है, इसका बुरा असर हमारे शरीर और मन पर होने लगता है आइये जानते हैं  ऐसे वक़्त में-

 positive attitude कैसे रखें - 

belive in ur dreams


   1.  दुनियां की रीत  - 

दोस्तों, हम सभी के जीवन में ऐसा समय जरूर आता है जब हमारे प्रयास असफल हो जाते हैं।  कठिन परिश्रम के बाद भी सफलता हाथ नहीं लगती और result जीरो दिखायी पड़ता है। ऐसी दशा में हमारी   बॉडी लैंग्वेज change होने से लोगों को पता चल जाता है की बन्दा परेशानी में है। उनकी नजर में आप एक डूबते जहाज की तरह दिखाई पड़ने लगते है।
      डूबते जहाज में आपके थोड़े से रिलेटिव्स को छोड़कर कोई आपके साथ रहना पसंद नहीं करता क्यूकि उन्हें  लगता है की अब  आप उनकी मदद करना छोड़कर उलटे उनसे कोई मदद ना मांग लें।  वैसे इसमें उनकी कोई गलती नहीं है , ये संसार की रीत है।



2.  अपनी कमजोरी को जानें -  

उगते सूरज को सलाम करो, डूबते को लात मारो।  ये तो सदा से होता आया है।  जब कभी ऐसी दशा आये तो आपको double फ्रंट में काम होता है  पहला अपनी असफलताओं से सीखना उनका analysis करके देखना कि  कमजोरी कहाँ रह गई थी और उनको दूर कैसे किया जा सकता है। 

         हर असफलता आपको एक नया लेसन सिखाती है। success की राह में असफलता एक सीढ़ी है जिसे पार किये बिना कोई भी दुनियाँ में सफल नहीं होता।
man on mountain

3.  बॉडी लैंग्वेज पॉजिटिव रखें - 

दूसरा जरूरी काम ये है की हमारी बॉडी लैंग्वेज और एक्शन में आशा झलके। सामने वाले को लगे की आप की हार भले हुयी है पर आप टूटे नहीं हैं, खत्म नहीं हुए हैं। बुझा हुआ मुर्दनी चेहरा किसी को पसंद नहीं आता, दूसरों के साथ साथ स्वयं पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है।
              
   जीवन में आने वाली हर विपरीत परिस्थिति, प्रकृति का  हमारी capability को टेस्ट करने का एक तरीका है। जिसके माध्यम से प्रकृति हमें  मिटाना नहीं सिखाना चाहती है।  अगर वो  मिटाना चाहती तो अभी तक आप मर चुके होते, आपका ज़िंदा होना इस बात का प्रमाण है कि अभी सब कुछ खत्म नहीं हुआ है।


4.  स्वयं को कार्य में लगाएं - 

स्वयं को अपने कार्य में लगाकर बिजी रखिये क्योंकि टारगेट तभी अचीव होगा जब आप डबल एफर्ट लगाकर काम करेंगे।  कार्य में व्यस्त रहने से उदासी दूर होगी, जीवन में नई आशा का संचार होगा। "मन के हारे हार है, मन के जीते जीत" -- यह मंत्र सदा याद रखिये।

        भूतकाल की किसी गलती का पश्चाताप करते रहेंगे तो आगे काम नहीं कर पाएंगे। फिर उसके लिए कुढ़ते रहने का क्या लाभ, जब बीते काल की किसी घटना में पीछे जाकर हम कोई परिवर्तन नहीं कर  सकते।

 also read -

  1. future trading in indian stock market.
  2. mkan kaise bnaye? rent agreement kaise bnaye?

stone balancing




5.  मोटिवेशनल बुक्स पढ़ें - 

positive attitude सदा विजय पथ पर अग्रसर करता है।  जो अपने काम में बिजी होता है, उदासी उससे कोसों दूर भाग जाती है। सदा  अपने  चेहरे पर मुस्कान और चाल में मस्ती रखिये।  

         अगर आप ऐसा करने में सफल होते हैं, तो लोग भी आपसे सम्मान से पेश आएंगे अन्यथा दूर जाने में उनको देर नहीं लगेगी। ऐसा  वक़्त अपने चाहने वालों  की पहचान भी करवाता  है, किस पर भरोसा कर  सकते है किस पर नहीं  इसका पता तभी चलता है जब आप संकट में होते हैं।

         ऐसे समय में मोटिवेशनल विचार हमारी हिम्मत बनाये रखने में मदद करते हैं। अच्छी किताबें पढ़िए, किताबे हमारी सच्ची दोस्त होती हैं।देशी विदेशी लेखकों की मोटिवेशनल बुक्स पढ़ते रहें, ये हमें जीने की राह सिखाती हैं और निराशा  भंवर से बचाती हैं। 
stone chkra

 6.  रिएक्शन की परवाह न करें  -  

सफलता के लिए जरूरी ये है की हम दूसरो के रिएक्शन की ज्यादा परवाह किये बिना अपने कार्य की सिद्धि के लिए निरंतर प्रयास करते रहें। आपने वो गीत जरूर सुना होगा - ' कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना।' आपकी नज़र अपनी मंज़िल पर होना चाहिए। अर्जुन की तरह केवल लक्ष्य को देखिये।

        पेड़ पत्तों  नज़र रहेगी तो लक्ष्य नहीं भेद पाएंगे। अपनी असफलताओं से सीखें।  अपने  अनुभव  से सीखा गया यह ज्ञान आपको सफलता के शिखर तक पहुंचने में जरूर सहायक सिद्ध होगा।  


         आपकी सफलता को देखकर लोगों के  बंद दरवाजे खुलने को मजबूर हो जाएंगे।  दुनिया आपके जज्बे को सलाम करने पर मजबूर होगी क्योंकि आपने अपने  रास्ते के पत्थरो से अपनी मंज़िल की राह बनायी है, अब हर कोई उस राह पर चलना चाहेगा। और उनकी सफलता के पथ के गाइड आप बनेंगे।

        उम्मीद है "Positive attitude kaise rakhen" यह आर्टिकल आपको मोटिवेट करने में  सहायक होगा। ऐसी उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विजिट करते रहें। आपकी प्रगति की कामना के साथ आपके  कमेन्ट्स का इंतज़ार रहेगा। 

Related post -

  1. zindgi ki yhi reet hai, haar ke baad jeet hai.
  2. खुश कैसे रहें? how to be happy



                

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad