Chai pine ke nuksan. चाय पीने के नुकसान - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Tuesday, March 5, 2019

Chai pine ke nuksan. चाय पीने के नुकसान

Chai pine ke nuksan.चाय पीने के नुकसान क्या हैं?

हमारे देश में चाय पीना एक आदत बन चुकी है.  आज देश की अधिकतर आबादी चाय की आदत के गिरफ्त में है। कहा जाता है कि हमारे देश में चाय का ये चस्का आज़ादी के पहले से अंग्रेजों का लगाया हुआ है।  परन्तु आज हालत ये है कि मेहमान के साथ  बातचीत  के दौरान अगर चाय की चुस्क‍ियां न ली जाएं तो कुछ अधूरा सा लगता है। 

          बेड टी का कल्चर न केवल शहरों में प्रचलित है बल्क‍ि गांव-देहात में भी लोग सुबह की शुरुआत चाय से करना पसंद करते है।  इस लेख में हम जानेंगे कि चाय के अत्यधिक सेवन से हम किन बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। यदि चाय की जगह निम्बू पानी से मेहमान के स्वागत करने की परम्परा शुरू की जाए तो लोगों के स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होगा।


2 cup tea

       इसके बिना सुबह सुबह कुछ भी नहीं किया जाता है। चाय रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम करती है और शरीर को उर्जा भी देती है।इससे आलस्य दूर हो जाता है, क्योंकि इसमें कैफीन होता है जो हमारे नर्वस सिस्टम को उत्तेजित कर देता है जिससे थकावट दूर हो जाती है। यदि आप  सुबह नाश्ते या  कुछ हल्का -फुल्का खाने के बाद 1 कप चाय लेते हैं, तो ठीक है। इसके अलावा अगर आप बहुत अधिक चाय पीते हैं तो  आपको सावधान होने की जरूरत है।  

       आइये  हम जानते है कि ये हमारे शरीर को कैसे नुकसान करती है। अधिक चाय पीने से कैंसर, अल्सर, मोटापा, अनिद्रा जैसे गंभीर रोग हो सकते हैं.
2 man with tea



 चाय पीने के नुकसान 

1. खाली पेट चाय पीने से गंभीर रोग  -  

कुछ लोग दिन की शुरुवात एक गर्म चाय के कप से करते है और वो खाली पेट चाय पीते हैं जो कि सेहत के लिए बहुत नुकसान दायक होता है। हाल में हुए कुछ अध्ययनों की मानें तो खाली पेट चाय पीना एक बहुत बुरी आदत है, इससे पेट की अंदरुनी सतह को नुकसान हो सकता है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित स्टडी के अनुसार ज्यादा चाय पीने से कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के चांस बढ़ते हैं।

        खाली पेट चाय पीने वालो में अक्‍सर चिड़चिड़ेपन की समस्‍या देखी जाती है। इसलिए खाली पेट चाय पीने से पहले आप भी एक बार जरूर सोच लें। अधिक चाय पीने से पुरूषों को प्रोस्‍टेट संबंधी बीमारी भी  हो सकती है। ये बात कई रिसर्च में बैज्ञानिकों ने भी कही है।

          कुछ लोग अत्यधिक गर्म चाय पीना पसंद करते हैं। लम्बे समय तक ऐसा करने से पेट के आंतरिक अवयवों को भारी नुकसान पहुँचता है जो दीर्घकाल में कैंसर के रूप में प्रकट होता है। इससे बचने के लिए ज्यादा गर्म चाय पीने के बजाय चाय को स्टोव से उतरने के बाद 4 मिनट इंतज़ार करें फिर पियें। 

2. मिचली होना

रात को सोने के बाद से लेकर सुबह उठने तक हमारा पेट खाली हो जाता है। इस दौरान सीधे चाय पीने से पेट के पाचन सम्बन्धी अंगों में गलत असर पड़ता है और उल्टी की भी परेशानी होने लगती है। आगे चलकर ये पेट में अल्सर का रूप ले सकता है।  इसके साथ ही इससे घबराहट भी होने लगती है।घबराहट से हृदय की धड़कन बढ़ जाती है। 

 also read -

 1.शेयर मार्केट में इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करें?

 2. ऑनलाइन एजुकेशन 


maroon cup tea

3. एसिडिटी की समस्या 

चाय में मौजूद हानिकारक तत्व पेट में एसिड को बढ़ा देते हैं, जिससे आपको पेट में अल्सर और एसिडिटी की समस्या हो जाती है। अगर आप भी उन लोगों में से हैं जिन्हें स्ट्रांग टी पीना अच्छा लगता है तो संभल जाइए। 

       ज्यादा स्ट्रांग चाय पीने वालों को अल्सर होने का खतरा रहता है।  इससे पेट की अंदरुनी सतह में जख्म हो जाने की आशंका बढ़ जाती है. इसलिए आप कभी खाली पेट  चाय का सेवन न करें।

4. अनिद्रा और डिप्रेशन

कई लोग होते हैं जो चाय को बार-बार गर्म करके पीते हैं, ऐसा करने से उसमें एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। जिससे अनिद्रा और डिप्रेशन जैसी दिक्कते आती हैं। चाय जब पीनी हो तभी बनाएं। उसे बनाकर रखना फिर गर्म करके पीने से उतपन्न  होने वाले तत्व शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। 



5. पेट फूलने की समस्या -  

खाली पेट ब्लैक-टी का सेवन पेट फूलने की समस्या का कारण बनता है। इसके सेवन से पाचन-शक्ति खराब होती है और रक्त में लोहे की कमी से रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी हो आती हैं।

 6. इनडाइजेशन  -

खाली पेट चाय पीने से शरीर में प्रोटीन और अन्‍य दूसरे पोषक पदार्थों का अवशोषण ठीक तरह से नही हो पाता है, और आप कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। कई लोग एक ही बार ज्यादा चाय बना लेते हैं और उसे बार-बार गर्म करके पीते रहते हैं. बार-बार गर्म करके चाय पीना खतरनाक हो सकता है. आधे घंटे से ज्यादा रखी हुई चाय न पिए। इससे इनडाइजेशन हो सकता है।

         सड़क में  ठेलों पर चाय बेचने वाले भी इस्तेमाल की हुई चाय की पत्ती को जल्दी नहीं फेंकते। फिर ये लोग प्लास्टिक के कप का इस्तेमाल करते हैं, जो शरीर के लिए बहुत हानिकारक होता है क्योकि गर्म चाय के साथ प्लास्टिक प्रतिक्रिया कर घातक रसायन पैदा करता है। 

7. मोटापा

दिन-ब-दिन बढ़ते मोटापे का एक मुख्य कारण खाली पेट चाय का सेवन भी है। चाय में इस्तेमाल होने वाली पत्ती और चीनी शरीर के अंदर जाकर चर्बी बढ़ाने का काम करती है, जिससे आपका वजन बढ़ने लगता है।अतः यदि आप मोटापे की ओर बढ़ रहे हैं तो इसका सेवन शीघ्र बंद कर दें। 
white cup tea

8. बच्चों की सेहत पर बुरा असर -

अमेरिकन एकेडमी ऑफ पेडियेट्रिक्स की रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार  चाय पीने से बच्चों के शरीर पर ये बुरे प्रभाव हो सकते हैं -

1. चाय में कैफीन होता है जिसका नेगेटिव असर बच्चों के ब्रेन पर पड़ता है और उनकी  ब्रेन पॉवर में कमी  होती है।

2. इसमें मौजूद शक्कर दांतों के लिए नुकसानदायक  होती है। ज्यादा चाय पीने से बच्चों के दांत खराब होते हैं।

3. चाय के कारण बच्चों में कैल्शियम का  उपयोग  पूरी तरह नहीं होता है।जिससे  हड्डियां कमजोर होती हैं।

4. इसमें मौजूद कैफीन से बच्चों को इनडाइजेशन हो सकता है। पेट की प्रॉब्लम बढ़ती है। भूख कम लगती है। 
                             
      इस तरह हमने अधिक चाय के सेवन से होने वाले नुकसान को जाना। परन्तु सीमित मात्रा में या ठंड में ऊर्जा के लिए, कभी जरूरत पड़ने पर नींद भगाने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है। निम्न रक्त चाप में चाय के सेवन से लाभ मिलता है, क्योंकि इससे रक्त चाप उच्च हो जाता है. 

        चाय के पानी से बाल धोने से बाल गिरना बन्द होते हैं। चाय पत्ती उबालकर उसके पानी को छानकर फ्रिज में रख लें। बालों को धोने के बाद इस पानी को बालों में कंडीशनर की तरह लगायें, इससे बालों में चमक बढ़ेगी। 

      आशा है ये लेख "Chai pine ke nuksan" आपके लिए उपयोगी सिद्ध  होगा। ऐसी ही और भी उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट में विजिट करते रहें।

 also read -

1. dance me career kaise bnaye.




1 comment:

Post Bottom Ad