Sound engineering career in Bollywood. बॉलीवुड में साउंड इंजीनियर कैसे बनें - sure success hindi

success comes from knowledge

Sunday, May 5, 2019

Sound engineering career in Bollywood. बॉलीवुड में साउंड इंजीनियर कैसे बनें

Sound engineering career in Bollywood
बॉलीवुड में साउंड  इंजीनियर कैसे बनें 

बालीवुड  में संगीत से जुड़े करियर की बात सोचने पर सिंगर और म्यूजिक डायरेक्टर की इमेज ही सबसे पहले दिमाग में आती है, जबकि इस फील्ड में इसके अलावा भी बहुत से करियर ऑप्शंस मौजूद हैं। साउंड  इंजीनियरिंग भी ऐसा ही ऑप्शन है।

     बॉलीवुड फिल्मों और नए चैनलों के खुलने से टीवी इंडस्ट्री के अलावा क्षेत्रीय फिल्मों में आई तेजी के कारण साउंड इंजीनियर की मांग तेजी से बढ़ रही है। बॉलीवुड के साथ क्षेत्रीय मनोरंजन उद्योग में तकनीकी जानकारों की जरूरत बहुत अधिक है। साउंड इंजीनियर की मांग भारत ही नहीं, विदेशों में भी है।
person in front of audio mixer



     साउंड  इंजीनियर के ऊपर म्यूजिक को मेलोडियस बनाने की जिम्मेदारी  होती है।  साथ ही वह रिकॉर्डिंग में इस्तेमाल होने वाले आधुनिक उपकरणों के टेक्निकल जानकर भी होते हैं। आप भी ऑडियो इंजीनियर के तौर पर अपना करियर बना सकते हैं।

  1. साउंड इंजीनियरिंग क्या है?

साउंड इंजीनियरिंग के तहत म्यूजिक, स्पीच और स्टूडियो के साउंड को हाई क्वालिटी का बनाना होता है। एक तरह से देखा जाए तो साउंड इंजीनियरिंग में साउंड रिकॉर्डिग, एडिटिंग एवं मिक्सिंग के तकनीकी एवं रचनात्मक पहलुओं का बारीकी से अध्ययन किया जाता है।
     
   इसमें अधिकतर कोर्स की शुरुआत ही साउंड एवं रिकार्डिग, पोस्ट प्रोडक्शन एवं ब्रॉडकास्टिंग की आधारभूत थ्योरी से की जाती है। कोर्स के बाद छात्र रिकॉर्डिग टूल्स, माइक्रोफोन के प्रयोग के बारे में अच्छी तरह से वाकिफ हो जाते हैं।

    इसके लिए फिल्मों, रेडियो और टेलिविजन में कई तरह के टेक्निकल इंस्ट्रूमेंट्स उपयोग किए जाते हैं। यह फील्ड दूसरे फील्डों की अपेक्षा चुनौतीपूर्ण जरूर है लेकिन काफी मजेदार है।  इसमें प्रोडक्शन व पोस्ट प्रोडक्शन दोनों ही तरह के काम शामिल होते हैं।

       आप 12वीं फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथेमेटिक्स से पास हैं तो किसी अच्छे संस्थान से साउंड रिकॉर्डिंग एंड साउंड इंजीयिरिंग में डिप्लोमा, ऑडियो इंजीनियरिंग में सर्टिफिकेट कोर्स या ऑडियोग्राफी में पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा जैसे कोर्सेज कर सकते हैं। साउंड इंजीनियरिंग के कोर्सेज करवाने वाले कुछ इंस्टीट्यूट ये हैं -



1. फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे

2. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फिल्म एंड फाइन आर्ट्स, कोलकाता

3. आरकेवी फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट, चेन्नई
4.  पनाश स्कूल ऑफ साउंड, हैदराबाद

5. एशियन अकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलिविजन, नई दिल्ली

6. इंस्टीट्यूट ऑफ न्यू मीडिया डेवलपमेंट एंड रिसर्च, पुणे
audio mixer



2. कार्य कहां कर सकते हैं  



इस फील्ड की डिग्री हासिल करने वाले उम्मीदवार इंजीनियर या टेक्नीशियन के रूप में बॉलीवुड मूवी के साउंड डिपार्टमेंट, टी वी चैनल्स, स्टूडियोज, मल्टीमीडिया डिजाइन, एनिमेशन, एडवर्टाइजिंग में काम कर सकते हैं।  इसके साथ डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स करने वालों को भी इन्हीं क्षेत्रों में काम मिल जाता है।  इस फील्ड में शुरुआती सैलरी 20-30 हजार रुपये तक मिल सकती है.

3. योग्यता क्या होनी चाहिए 

एक अच्छा साउंड इंजीनियर बनने के लिए आपमें संगीत के प्रति रुझान और उसकी समझ होना आवश्यक है। साथ ही क्रिएटिविटी, टेक्निकल नॉलेज, मैकेनिकल व इलेक्ट्रॉनिक इक्विप्मेंट्स के साथ काम करने और इस क्षेत्र में प्रयोग किये जाने वाले आधुनिक उपकरणों का ज्ञान होना चाहिए।  

        सबसे खास बात है कि आपको आवाज यानी विभिन्न तरह की ध्वनियों को पहचानने और उनका विभिन्न संदर्भो में उपयोग करने की  योग्यता होना जरूरी है, क्योंकि एक अच्छा साउंड इंजीनियर बनने के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण और आधारभूत आवश्यकता है। इसके अलावा घंटों काम करने की क्षमता, धैर्य, एकाग्रता, टीम स्पिरिट और अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स  भी होनी चाहिए। 
people enjoying in a concert
     


4. साउंड इंजीनियर के कार्य 



साउंड इंजीनियर साउंड को रिकॉर्ड करने के लिए कई तरह के उपकरणों का उपयोग करता है। इलेक्ट्रॉनिक मिक्सिंग बोर्ड (कॉनसोल बोर्ड), जिसमें कई तरह के बटन, डायल्स, लाइट्स और मीटर्स शामिल होते हैं, ऑडियो इंजीनियरिंग के महत्वपूर्ण भाग हैं। 

           साउंड इंजीनियर अपना कार्य दो स्तरों पर करता है। प्रॉडक्शन स्तर पर और दूसरा पोस्ट प्रॉडक्शन स्तर पर। प्रॉडक्शन लेवल पर साउंड इंजीनियर का कार्य मैकेनिकल व इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के द्वारा विभिन्न प्रकार  की आवाजें बनाना तथा उन्हें रिकॉर्ड करना होता है।


        पोस्ट प्रॉडक्शन लेवल पर उन्हें एडिट व मिक्स करके साउंड को तराशा जाता है और ऐसा साउंड तैयार किया जाता है जो वास्तविक और कर्णप्रिय लगे।  
    
   इसके अलावा ऑडियो राइटिंग, इलेक्ट्रॉनिक म्यूजिक, साउंड रिकॉर्डिग, म्यूजिक बिजनेस, मल्टीट्रैक प्रॉडक्शन आदि कई ऐसे क्षेत्र हैं, जिन्हें साउंड इंजीनियरिंग के तहत शामिल किया जाता है। इस क्षेत्र में शिखर तक पहुंचने के लिए आपको ऑडियो टेक्नोलॉजी और उपकरणों के बारे में लगातार अपडेट होते रहना आवश्यक है। 

 5. साउंड इंजीनियरिंग में स्कोप क्या हैं 

साउंड इंजीनियरिंग में पाठ्यक्रम करने के बाद आप शुरुआती स्तर पर म्यूज़िक प्रोग्राम, एफएम रेडियो,  स्टूडियो में मिक्सिंग और रिकॉर्डिग जैसे कार्यों  से जुड़ सकते हैं।

       एक बार फिल्म इंडस्ट्री, विज्ञापन और टीवी जगत का अनुभव होने के बाद आप किसी विशेष फील्ड जैसे म्यूजिक, स्पेशल इफेक्ट्स, डायलॉग आदि में स्पेशलाइजेशन भी कर सकते हैं। आप म्यूजिक प्रोड्यूसर बनकर खुद का रिकॉर्डिंग स्टूडियो भी शुरू कर सकते हैं।

also read -
1. dance me career kaise bnaye

2. black truth of share market
aperson using sound mixer



 इसके अलावा आप निम्नलिखित भी बन सकते हैं - 



a. स्टूडियो इंजीनियर - एक स्टूडियो इंजीनियर साउंड रिकॉर्ड करने से लेकर आवाज को निखारना, दृश्यों के साथ मिलान करना जैसे कार्य करता है।


 b.  ब्रॉडकास्ट इंजीनियर -  ब्रॉडकास्ट से जुड़े उपकरणों की देखभाल करता है।

c. रिकॉर्डिग इंजीनियर - इनका प्रमुख कार्य सभी उपकरणों जैसे माइक्रोफोन, मिक्सर, हेडफोन आदि को सेट करना होता है। 

d. साउंड एडिटर - इसका काम डायलॉग एडिटर, म्यूजिक एडिटर एवं साउंड इफेक्ट एडिटर तीनों का काम देखना  है।

e. मिक्सिंग इंजीनियर -  मिक्सिंग इंजीनियर किसी भी संगीत को अंतिम रूप देते हैं। साथ ही यह विभिन्न रिकॉर्डिग ट्रैक को उचित रूप से मिलाते हैं, जिससे वह अपना प्रभाव छोड़ सकें। 


f. साउंड डिजाइनर - फिल्म, एलबम, विज्ञापन की प्रस्तुति के साउंड को डिजाइन करने और दृश्यों के साथ उनका मिलान करने का काम करता है।

           इस तरह से Sound  engineer का काम  फिल्‍मों, टीवी या रेडियो पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रमों की आवाज की क्‍वालिटी खास तकनीक के जरिए  निखारने के साथ  बेहतर बनाना है। 

           आशा है ये पोस्ट "Sound engineering career in Bollywood. बॉलीवुड में साउंड  इंजीनियर कैसे बनें" आपको अच्छी लगी होगी इसे शेयर करें। ऐसी और भी उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विजिट करते रहें। 

also read -

1. actor kaise bane

2. film director kaise bane




1 comment:

Menu