Patnitop hill station.जम्मू-कश्मीर का हिल स्टेशन पटनीटॉप - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Tuesday, August 6, 2019

Patnitop hill station.जम्मू-कश्मीर का हिल स्टेशन पटनीटॉप

 Patnitop hill station.जम्मू-कश्मीर का हिल स्टेशन पटनीटॉप 

जम्मू और कश्मीर के उधमपुर जिले में स्थित पटनीटॉप 2024 मीटर की ऊंचाई पर बसा हुआ खूबसूरत पहाड़ी स्थल है, जहां चिनाब नदी बहती है। यदि आप जम्मू या वैष्णों देवी तीर्थ की यात्रा पर जाते हैं तो वहां से पटनीटॉप घूमने का प्लान बना सकते हैं। जम्मू से इसकी दूरी 112 km. और वैष्णों देवी के बेस कैंप कटरा से 81 km. है। चीड़ और देवदार के पेड़ों के बीच हरे भरे घास के मैदान हर उस शख्स को अपनी ओर आकर्षित करते हैं जो प्रकृति प्रेमी हो। पटनीटॉप में शांत रास्तों पर पैदल घूमते हुए हरियाली और पहाड़ों के शानदार दृश्य देखकर मन को अद्भुत सुकून मिलता है। सुबह-सवेरे पड़ने वाली धुंध व कोहरे के बीच सुबह की सैर का अपना अलग ही आनंद होता है। 

patnitop

 जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग के बीच पटनीटॉप ही एक ऐसा स्थान है जो  सबसे ऊंचा है और पटनीटॉप की समुद्रतल से ऊंचाई श्रीनगर से भी अधिक है। अगर आप पर्यटन के शौक़ीन हैं तो पटनीटॉप की यात्रा जीवन में एकबार अवश्य करें। सर्दियों में इसकी खूबसूरत ढलानों पर जमने वाली बर्फ भी पर्यटकों को अपनी ओर खींचती  है। उस समय पटनीटॉप बर्फ की सफेद चादर से ढक जाता है।  

    पटनीटॉप कश्मीर घाटी के विकसित पयर्टन स्थलों में गिना जाता है। स्कीइंग और पैराग्लाइडिंग जैसे स्नो गेम्स के शौक़ीन लोगों और स्नो फॉल देखने के इच्छुक पर्यटकों के लिए पटनीटॉप बेहतरीन टूरिस्ट डेस्टीनेशन है। इस क्षेत्र  में लोगों के लिए ट्रेकिंग करने का विकल्प भी है। ट्रेकिंग और लंबी पैदल यात्रा करने वाले लोगों के लिए ये जगह बेहद रोमांचकारी साबित होती है। सुध महादेव और शिवगढ़ ये दो ट्रैक हैं, जिसमें से किसी एक विकल्प को चुना जा सकता है।
patnitop-view


    यहां पर ठहरने के लिए राज्य पर्यटन विकास निगम के बंगले, हट्स की सुविधा के साथ बहुत से प्रायवेट होटल हैं। हिल स्टेशन का पूरा  आनंद कुछ दिन वहां रुकने पर ही लिया जा सकता है परन्तु अधिकतर भारतीय पर्यटक दिनभर सैर सपाटा करने के उपरांत वापस लौट जाते हैं।पटनीटॉप में ठंडे पानी के तीन झरने हैं, जिनमें औषधीय गुण होने का दावा किया जाता है। एडवेंचर स्पोर्ट्स पसंद करने वालों के लिए पटनीटॉप मे कई विकल्प है।  पटनीटॉप में आप  गोल्फ, एरो स्पोर्ट्स, फोटोग्राफी और हॉर्स राइडिंग का आनंद भी ले सकते हैं। आइये जानते हैं जम्मू- कश्मीर के इस खूबसूरत ट्रेवल डेस्टीनेशन पटनीटॉप के दर्शनीय स्थानों के बारे में।

patnitop-hill-station

पटनीटॉप के दर्शनीय स्थल  (Places Visit Near Patnitop) 


1. नाथ टॉप ( Nathatop) -

 पटनीटॉप में सबसे ऊँचा स्थान है नाथ टॉप, यह 7000 फिट की ऊँचाई पर स्थित है। इतनी ऊंचाई पर होने के कारण यहां से शिवालिक और किश्तवाड़ के बर्फ से ढके पर्वत और घाटियों के अलावा देवदार के जंगलों के शानदार दृश्य दिखाई पड़ते हैं। सर्दियों के दौरान नाथ टॉप में बर्फबारी का दृश्य विशेष रूप से बहुत सुंदर दिखता है। 

     ऊंचाई पर होने के कारण पैराग्लाइडिंग के लिए इस क्षेत्र का प्रयोग किया जा रहा है।नाथटॉप में पैराग्लाइडिंग करने का अलग ही मजा है। पयर्टन विभाग की ओर से स्कीइंग और पैराग्लाइडिंग करने के शौकीन लोगों के लिए साल में तीन से चार कोर्स करवाए जाते हैं। स्कीइंग के लिए जनवरी-फरवरी और पैराग्लाइडिंग के लिए अक्टूबर के महीने का इंतजार करना पड़ता है,  इसी समय यहां स्कीइंग और पैराग्लाइडिंग का मज़ा लिया जा सकता है। 


sanasar-lake

2. सनासर झील (Sanasar Lake) -


सनासर झील पटनीटॉप से 20 किमी की दूरी पर  2050 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यहां सना और सार नाम के दो गांव हैं। इन्हीं दो गांवों के नाम पर इस स्थान का नाम सनासर पड़ा। यहां जाते हुए रास्ते के दोनों ओर पहाड़ों और आसपास के सुंदर दृश्य दिखाई पड़ते हैं। गर्मियों में यहां देवदार के वृक्षों से घिरा दूर तक फैला हरा भरा मैदान बहुत आकर्षक लगता है। प्रकृति के इस नज़ारे को देखकर मन प्रशन्न हो जाता है। पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पटनीटॉप विकास प्राधिकरण  द्वारा साहसिक और बर्फ के खेलों को बढ़ावा देने का इंतज़ाम किया गया है। यहां पर्यटक, रॉक क्लाइबिंग, पैराग्लाइडिंग, हॉट एयर बैलून राइड्स जैसी एडवेंचर एक्टिविटीज का मजा ले सकते हैं।
snow-fall-in-patnitop

3. माधा टॉप (Madhatop) -

पटनीटॉप से करीब 5 किमी की दूरी पर माधाटॉप स्थित है। माधाटॉप अपने स्कीइंग मैदानों के लिए पर्यटकों के बीच ज्यादा प्रसिद्ध है। सर्दियों के दौरान बर्फ से ढंके पहाड़ों की ढलानों में स्कीइंग करने का आकर्षण लोगों को यहां खींच लाता है।


4. नाग मंदिर (Naag Temple) -

एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित नाग मंदिर की प्रसिद्धि पटनीटॉप के सबसे पुराने मंदिर और देखने योग्य स्थान के रूप में है। बताया जाता है कि यह मंदिर 600 साल पुराना है। यहां से आप दूर तक के सुंदर दृश्य का आनंद ले सकते हैं। अत्यंत सुन्दर यह मंदिर चारो ओर पहाड़ों से घिरा हुआ है। नागपंचमी के समय बड़ी संख्या में लोग यहाँ दर्शन और प्रार्थना करने आते हैं। ठंड के मौसम में यहां अत्यधिक ठंड होती है और शाम के समय इसके चारो ओर घना कोहरा होने से  मात्र 10 फीट की दूरी तक ही देखा जा सकता है।

5.  बुद्ध अमरनाथ मंदिर (Buddh Amarnath Temple) -

भगवान शिव को समर्पित बुद्ध अमरनाथ मंदिर पटनीटॉप का प्रमुख आकर्षण है। संगमरमर के पत्थर से बने इस मंदिर के पास पुलत्स्य नदी बहती है। एक पौराणिक कथा के अनुसार रावण के दादाजी पुलत्स्य ऋषि ने इस नदी के पास घोर तपस्या की थी, इसलिए पुलत्स्य ऋषि के नाम पर नदी का नाम रखा गया है। रक्षाबंधन त्योहार के अवसर पर बुद्ध अमरनाथ मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ होती है। अगर आप पटनीटॉप जाते हैं तो बुद्ध अमरनाथ मंदिर की यात्रा जरूर करें।

also read -

1. facts about shimla.शिमला के बारे में जानकारी 

2. jagnnath puri tour.जगन्नाथ पुरी दर्शन 

3. thailand trip.बैंकाक -पटाया की सैर 
buddh-amarnath-mandir



6. पटनीटॉप सुंरग (Patnitop Tunne) -


भारत की सबसे लंबी सुंरग पटनीटॉप में है। 9 किमी लंबी इस सुरंग को चेनानी नाशरी सुरंग और पाटनीटॉप सुरंग भी कहा जाता है। यह सुरंग जम्मू व श्रीनगर के बीच नेशनल हाईवे 44 पर बनी हुई है जो  पटनीटॉप से 2 किमी दक्षिण में चेनानी बस्ती से शुरु होती है और पटनीटॉप से उत्तर में नाशरी गाँव तक जाती है। इस से जम्मू-श्रीनगर का फ़ासला 31 किमी घट गया है। इस सुरंग के बनने में 3720 करोड़ रूपए खर्च हुए थे। सुरंग बनने का काम 2011 में शुरू हुआ था, जिसे अंतिम रूप 2017 में मिला। सुरंग का व्यास 13 मीटर है। 

पटनीटॉप कैसे पहुचें -



सड़क मार्ग -  

सड़क मार्ग से यात्रा करने के लिए दिल्ली, चंडीगढ़, जम्मू, कटरा से बसें उपलब्ध हैं। यहां से प्राइवेट टैक्सी भी किराए पर ले सकते हैं।


हवाई मार्ग - 

जम्मू हवाई अड्डा पटनीटॉप पहुंचने के लिए निकटतम हवाई अड्डा है। जम्मू से पटनीटॉप तक पहुँचने में लगभग 3-4 घंटे का समय लगता है। एक अन्य विकल्प श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा है, जो लगभग 188 किमी की दूरी पर है। 

रेल मार्ग - 

पटनीटॉप तक पहुंचने के लिए निकटतम  रेलवे स्टेशन उधमपुर है जो 47 किमी की दूरी पर है।


 पटनीटॉप कब जाएँ -

 यहां गर्मी का मौसम मई से जुलाई तक रहता है, लेकिन इस मौसम में भी हल्की बारिश होती रहती है।  अगर आप मई में पटनीटॉप जाएंगे, तो आपको वहां दिलखुश करने वाली हरियाली मिलेगी, इस समय वहां बर्फ नहीं मिलेगी। दिसंबर से फरवरी तक सर्दी का मौसम होता है। इस मौसम में बर्फबारी के समय यहां का तापमान -14 डिग्री तक गिर जाता है। इसी समय स्कीइंग शुरू होने के कारण पयर्टकों की भीड़ यहां बहुत बढ़ जाती है। 

    सर्दी के दिनों में यहां जमकर बर्फबारी होने के कारण कई रास्ते जाम हो जाते हैं, जिससे यातायात बाधित होता है। कई बार तो बर्फबारी के कारण जम्मू कश्मीर नेशनल हाईवे बंद हो जाता है, जिस कारण गाड़ियों को बर्फ हटाए जाने तक का इंतजार करना पड़ता है।

     आशा है ये आर्टिकल "Patnitop hill station.जम्मू-कश्मीर का हिल स्टेशन पटनीटॉप" आपको पसंद आया होगा इसे अपने मित्रों तक शेयर कर सकते हैं। अपने सवाल और सुझाव कमेंट बॉक्स में जाकर लिख सकते हैं। ऐसे ही अन्य खूबसूरत पर्यटन स्थलों की जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विज़िट करते रहें।


also read - 

1. how to lose weight fast.मोटापा तेजी से कैसे घटाएं 

2. bollywood actors who hv business.बॉलीवुड सितारों के बिज़नेस 

3. ponzi scheme frauds.पोंज़ी स्कीम क्या है, इसकी ठगी से कैसे बचें 




No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad