Home Treatment For Liver-लीवर की सफाई के कामयाब नुस्खे - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Thursday, 24 December 2020

Home Treatment For Liver-लीवर की सफाई के कामयाब नुस्खे

Home Treatment For Liver-लीवर की सफाई के कामयाब नुस्खे  

लीवर (Liver) मानव शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है, जिसका वजन औसत वयस्क में लगभग तीन पाउंड होता है। यह शरीर में सबसे बड़ी ग्रंथि है और बड़ी संख्या में कार्यों के लिए जिम्मेदार है। लीवर या यकृत, प्राकृतिक डिटॉक्सिफायर है इसका कार्य भोजन की पाचन पूर्व सफाई और प्रोटीन संश्लेषण हैं। यह हानिकारक दवाओं, रसायनों और विषाक्त पदार्थों को detoxify करता है। 


woman-running


    लीवर के बहुआयामी कार्यों में ऊर्जा का भंडारण करना और वसा (Fat) को पचाने के लिए पित्त का उत्पादन करने के साथ कुछ आवश्यक विटामिन व आयरन जैसे खनिज को संग्रहीत करता है। इस कारण यदि लीवर में कोई समस्या आई तो शरीर को कई बीमारियों का खतरा है। 


   लीवर में समस्या आने का मतलब है कि उस पर विषाक्त पदार्थों का अधिभार हो चुका है। लीवर की खराबी से व्यक्ति को हेपेटाइटिस, फैटी लिवर, लिवर सिरोसिस, एल्कोहॉलिक लिवर डिजीज और लिवर कैंसर जैसी बीमारियां हो सकती हैं।


लीवर प्रॉब्लम के मुख्य लक्षण - 


निम्नलिखित लक्षणों पर ध्यान दें -


भूख कम लगना, भारीपन या सुस्त पाचन,  मतली, अत्यधिक थकान, लीवर की जगह में दर्द (पेट के ऊपरी दाहिने हिस्से में दर्द होना), पैर या टखने के क्षेत्र में सूजन, पीली त्वचा या आंखें, मूत्र का गहरा रंग,  त्वचा पर छाले पड़ना, असहनीय खुजली, पित्त नली में रुकावट, अल्पकालिक स्मृति हानि या भ्रम (यह आमतौर पर इसलिए होता है क्योंकि मस्तिष्क में विषाक्त पदार्थों का संचय होता है)


  लीवर के क्षत-विक्षत होने पर इस अंग के माध्यम से रक्त का प्रवाह ख़तरे में पड़ जाता है, जिससे पेट और ग्रासनली की नसों में दबाव बनता है। नसों के फटने से खून की उल्टी होने की समस्या उत्पन्न होती है।  जब लीवर क्षतिग्रस्त हो जाता है तब रक्त के थक्के जमने के लिए आवश्यक प्रोटीन का उत्पादन को रुकता है, इससे चोट लगने या खून बहने की संभावना बढ़ जाती है।


sliced fruit on tray
 

 लीवर फंक्शन को कैसे बेहतर बनाएं  - 


वसायुक्त, शर्करायुक्त और नमकीन खाद्य पदार्थों को सीमित करें। जब आप लीवर को ठीक करना चाहते हैं तो आपको उन खाद्य पदार्थों को छोड़ना होगा जो आपके लीवर को अपूरणीय क्षति पहुंचाते हैं और परिणामस्वरूप आपका स्वास्थ्य खराब होता है। भोजन हमारे शरीर को पोषण देता है, लेकिन हम अक्सर ऐसे खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करते हैं जो हमारे शरीर और लीवर पर अत्याचार करने के समान होता है।


   फ्राइड और फास्ट फूड आपके लीवर के स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकते हैं। आप अपने लीवर को ठीक करने में तभी सक्षम होंगे, जब अपने आहार से तुरंत इन खाद्य पदार्थों को हटाना सुनिश्चित करें, यह निश्चित रूप से लीवर को स्वस्थ रखने की दिशा में पहला कदम होगा। 


इन पदार्थों का सेवन कम करें -


ड्रग्स, फ्राइड फ़ूड, प्रोसेस्ड या रिफाइंड खाद्य पदार्थों की श्रंखला में बहुत सारे खाद्य पदार्थ शामिल हैं जैसे कि मैदा, सफेद ब्रेड, चीनी, पास्चुरीकृत डेयरी उत्पाद, विभिन्न प्रकार के मीट जिनका हर तरह से खामियाजा आपका लीवर भुगत रहा है। आप अपने आहार से इन खाद्य पदार्थों को अचानक नहीं छोड़ सकते, परन्तु इनकी मात्रा को धीरे-धीरे कम करने की कोशिश करें।


nutrition

    फाइबर युक्त भोजन करें, फाइबर आपके लीवर के कार्य को सुचारू रूप से करने के लिए आवश्यक है। मौसमी फल, सब्जियां और अंकुरित अनाज अपने आहार में शामिल करने से आपको फाइबर प्राप्त होता है। अंगूर, ब्लूबेरी, नट्स, और पालक जैसी हरी सब्जियों को लीवर के लिए लाभदायक  माना जाता है। 


 शराब का सेवन न करें -

 

अगर आप एल्कोहॉल का अधिक सेवन करते हैं तो इसे तुरंत बंद कर देना चाहिए। लीवर के लिए शराब का अधिक सेवन करना खतरनाक साबित हो सकता है। आपके लिए जानना बहुत जरूरी है कि एल्कोहॉल आपके लीवर को सर्वाधिक प्रभावित करती है।


   शराब के असर से लीवर में टॉक्सिन बनने लगते हैं। अधिक टॉक्सिन बनने से लीवर अपना काम धीमा कर देता है या फिर बंद कर देता है। लीवर का मुख्य कार्य वेस्ट को फिल्टर करना और टॉक्सिन को शरीर से बाहर निकालना होता है। अधिक शराब के सेवन से लीवर अपना काम ठीक से नहीं कर पाता है, इससे अल्कोहलिक फैटी लीवर की बीमारी से पीड़ित होने की संभावना रहती है।


विषाक्त पदार्थों से बचें -


कुछ रोजमर्रा के घरेलू उत्पादों में विषाक्त पदार्थ होते हैं जो आपके लीवर को नुकसान पहुंचा सकते हैं, खासकर यदि आप नियमित रूप से उनके संपर्क में आते हैं। इस नुकसान से बचने के लिए अपने घर को साफ करने के लिए जैविक सफाई उत्पादों (Herbal Product) और तकनीकों का चयन करें। अपने किचन गार्डन में रासायनिक कीटनाशकों का उपयोग करने से बचें, साथ ही प्रदूषित वायु और  रासायनिक धुएं से बचने के लिए सावधानी बरतें।


लीवर की सफाई करने के घरेलू उपाय (Home Treatment For Liver)-


शरीर के अच्छे स्वास्थ्य के लिए हेल्दी लीवर का होना बहुत जरूरी है। अगर लीवर में टॉक्सिंस रहते हैं तो शरीर को कई प्रकार की बीमारिओं का सामना करना पड़ सकता है। लीवर साफ करने के उपाय बहुत मुश्किल नहीं है, बल्कि आप अपने घर में ही इन्हें अपनाकर लीवर की समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं। आइये जानते हैं लीवर की सफाई करने के उपायो के बारे में।


water and sliced lime


1. पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं -


हम प्यास बुझाने के लिए पानी का उपयोग करते हैं। पानी शरीर के लिए कई काम करता है, यह बॉडी टेम्प्रेचर को मेंटेन करने के साथ ही ज्वाइंट्स के लिए लुब्रिकेंट्स का काम करता है। डायजेशन में हेल्प करने के साथ ही पानी शरीर से विषैले तत्वों (टॉक्सिंस) को बाहर निकालने का काम भी करता है। इसलिए पानी पीने में कोताही न बरतें, सामान्य रूप से प्रतिदिन आठ गिलास पानी जरूर पीना चाहिए।  


2. पर्याप्त नींद लें -


जो लोग किसी भी कारण से पर्याप्त मात्रा में नींद नहीं लेते हैं, उनके शरीर में टॉक्सिंस की मात्रा बढ़ती जाती है। जब नींद पूरी नहीं होती है तो शरीर को उतना समय नहीं मिल पाता कि वह दूषित पदार्थों को सही तरीके से बाहर कर सके। अच्छी नींद न लेने से डिप्रेशन, हार्ट डिसीज, टाइप 2 डायबिटीज या मोटापे की समस्या हो सकती है। इसलिए शरीर की ठीक से सफाई के लिए नींद के समय को व्यवस्थित करने और पूरी नींद लेने की आवश्यकता है। 


adding turmeric in a glass of water


3. हल्दी (Turmeric)का उपयोग करें -


हल्दी आपके लीवर के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही उपयोगी है। इसमें न केवल एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होते हैं, बल्कि एंटीसेप्टिक गुण भी होते हैं। यह गोल्डन मसाला, वायरस को पनपने से रोक सकता है, जिससे हेपेटाइटिस से बचाव होता है। 


   भारतीय घरों में हल्दी का प्रयोग भोजन पकाने के दौरान रोजाना किया जाता है। हल्दी के बिना खाना अधूरा सा लगता है। हल्दी खाने की शोभा बढ़ाने के साथ एक औषधि का कार्य भी करती है, यह लीवर के डिटॉक्सीफिकेशन करने का काम करती है। 


   अगर रोजाना आधा चम्मच हल्दी का प्रयोग किया जाए को लिवर को साफ किया जा सकता है। आप चाहे तो आधा चम्मच हल्दी को एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाकर पी सकते हैं या हल्दी को दूध में मिलाकर पिया जा सकता है। 


4. लहसुन (Garlic) का सेवन करें -


लहसुन के खास गुणों के कारण ही आयुर्वेद में इसे रसायन कहा जाता है। गार्लिक लीवर को साफ करने में भी उपयोगी है, यह लीवर एंजाइम को एक्टिव करता है जिससे टॉक्सिंस को बाहर निकालने में मदद मिलती है। लहसुन में एलिसिन और सेलेनियम पाया जाता है, ये दोनों लीवर की सफाई में   महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।


garlic in a plate

     वैसे तो लहसुन का उपयोग सब्जी, दाल आदि में किया जाता है, लेकिन आप रोजाना सुबह लहसुन की 2 कली, बारीक काटकर पानी के साथ ले सकते हैं या नाश्ते के साथ खा सकते हैं। लहसुन का सेवन शहद के साथ भी किया जा सकता है। लहसुन का सेवन करना, आपके लीवर की सफाई के लिए बेहतरीन उपाय साबित हो सकता है।


5. काफी पीजिये -


लीवर सिरोसिस और लीवर कैंसर जैसे लीवर रोगों के जोखिम को कम करने के लिए कॉफी का प्रयोग किया जा सकता है। कॉफी, लीवर में वसा (फैट) के संचय को रोकने का काम करता है, लीवर को बीमार करने में फैट भी एक कारक है। 


6. लीवर की सफाई में जूस का प्रयोग करें -


लीवर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने के लिए एक्सपर्ट, जूस पीने की सलाह देते हैं। घर पर इन्हें आसानी से बनाकर कोई भी इनका प्रयोग कर सकता है। इनसे न केवल लीवर की गंदगी बाहर निकल जाती है बल्कि शरीर के लिए ये इम्यूनिटी बूस्टर का काम भी करते हैं। आप भी अपने लीवर को फिट रखने के लिए नीचे बताये गए जूस का सेवन कर सकते हैं -


A. लौकी- गिलोय का जूस


सामग्री - इसे बनाने के लिए आपको जरूरत होगी - लौकी जिससे 1 गिलास रस बन सके, 1 गुच्छी धनिया, 1 चम्मच हल्दी, 1 चम्मच काला नमक, 1 चम्मच नींबू का रस और 30 मिली गिलोय का रस (गिलोय का रस आपको आयुर्वेदिक दवा विक्रेताओं के यहां मिल जायेगा)। 

तैयार करने की विधि -


सबसे पहले लौकी को छीलकर टुकड़े कर लें, फिर इसमें धनिया मिलाकर ग्राइंड करके जूस बनाकर छान लें। इस जूस में हल्दी,  काला नमक, नींबू का रस और गिलोय का रस डालकर मिक्स करें। आपका स्वास्थ्यवर्धक जूस तैयार है, यह लीवर के विषैले टॉक्सिन निकालने में मदद करेगा और आपके  इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाएगा। प्रतिदिन सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।

 

amla photo

 

B. गाजर-आंवले का जूस -


आंवला विटामिन सी से समृद्ध है, यह अनेक रोगों के इलाज में उपयोगी दवा का काम करता है। लीवर को शुद्ध करने के लिए यह एक अनुकूल फल है। अधिकतम लाभ के लिए आप आंवले के सीजन में प्रतिदिन 2 - 3 कच्चे आवलों का सेवन कर सकते हैं। 


 गाजर-आवलें का जूस बनाना चाहें तो 150 ml. गाजर के जूस में 20 ml.  आंवले का जूस और सेंधा नमक मिलाकर रोजाना नाश्ते के साथ इस जूस का सेवन करें। यह जूस लीवर की समस्याओं को दूर करने के साथ लीवर की सूजन को कम करता है। 


C. पालक और चुकंदर का रस -


इसे बनाने के लिए पालक के पत्तों का 100 ml. जूस निकालकर इसमें 30 ml. चुकंदर का जूस और चुटकी भर काली मिर्च मिलाएं। यह जूस रोजाना लेने से लीवर के फंक्शन को ठीक करता है, साथ ही इससे शरीर में खून की कमी भी दूर हो जाती है। 


beatroot smoothie


D. पालक और गाजर का रस -


पालक और गाजर के रस का मिश्रण लिवर सिरोसिस के लिए एक बेहतरीन उपाय है। लिवर संक्रमण और इससे संबंधित समस्याओं के निदान के लिए यह एक शक्तिशाली पेय है। इसे बनाने के लिए पालक और गाजर, दोनों रसों की बराबर मात्रा मिला सकते हैं।  इसे और अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए थोड़ा सा सेंधा नमक और काली मिर्च पाउडर मिलाकर सेवन करें। 


    बेहतरीन परिणाम पाने के लिए आप हर दिन सुबह इस पेय का सेवन कर सकते हैं। यह सर्दियों के लिए सर्वोत्तम ड्रिंक में से एक है।  इसके प्रयोग से आप स्वयं को भीतर से स्वस्थ महसूस करेंगे और आपके चेहरे पर चमक दिखाई पड़ेगी।  


carrot juice


E. मूली का रस -


मूली में सल्फर- आधारित रसायन पित्त के प्रवाह को बढ़ाने में मदद करते हैं, ये लीवर की सहायता करते हैं और पाचन में सुधार करते हैं। मूली में एक एंजाइम होता है, जो स्टार्च के पाचन में मदद करता है। स्वस्थ पाचन और विषहरण के लिए मूली के रस में खीरे का रस और गाजर का रस बराबर मात्रा में मिलाएं और आधा गिलास की मात्रा में दिन में दो बार भोजन से 30 मिनट पहले पियें


F. खट्टे फल -


नीबू और अंगूर विटामिन सी के अत्यंत शक्तिशाली स्रोत हैं और एंटीऑक्सिडेंट का काम करते हैं। एंजाइम के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए इन्हें अधिक से अधिक अपने आहार में शामिल करने की कोशिश करें, इससे लीवर डिटॉक्सिफिकेशन की प्रक्रिया तेज़ होती है। 1 गिलास पानी में आधा निम्बू का रस और 1 -2 चम्मच शहद मिलाकर पियें। आप बिना साइड-इफेक्ट्स के हर दिन इसका सेवन कर सकते हैं।


lime juice and fruit shake


G. पपीता खाएं -


पपीता एक ऐसा फल है जो आपके लीवर के लिए भी फायदेमंद है। यह लीवर सिरोसिस जैसे रोगों के इलाज के लिए विशेष रूप से अच्छा है। विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करने के लिए पपीता खाएं।  


7. व्यायाम करें -


सही भोजन के अलावा नियमित व्यायाम करना आपके स्वास्थ्य की रक्षा करने के तरीकों में से एक है। व्यायाम करने से आपका ब्लड सर्कुलेशन तेज़ होता है, यह शरीर की सफाई प्रक्रिया शुरू करने के लिए प्राथमिक तरीका है। व्यायाम करने से आपका दिल अधिक रक्त पंप करता है, जो पोषक तत्वों को शरीर के विभिन्न अंगों तक पहुंचने में सक्षम बनाता है।


also read -


Home Remedies for High BP-बीपी ठीक करें -बिना दवा के 


Natural Ways to Stay Young-युवा रहने के प्राकृतिक तरीके 


Japaneese Ways of Life-जापानियों के स्वस्थ और दीर्घायु होने का राज़ 


woman doing yoga

 
   जरूरी नहीं कि आप किसी ख़ास तरह के व्यायाम ही करें, आवश्यक यह है कि आपको सुबह जल्दी उठना होगा और अपने स्वास्थ्य के अनुकूल कुछ एक्सरसाइज करना होगा। हर दिन अपने अच्छे स्वास्थ्य के लिए, अपने व्यस्त कार्यक्रम से 30 मिनट का समय अवश्य बचाएं। इससे आप पूरे दिन अपनी गतिविधि के स्तर को बनाए रखने में सक्षम हो सकते हैं।


   लीवर के अच्छे स्वास्थ्य के लिए आप प्राणायाम और योग का सहारा ले सकते हैं। अनुलोम विलोम, भस्त्रिका और कपालभांति प्राणायाम के अलावा भुजंग आसन और धनुरासन से आपको विशेष लाभ मिलेगा।


8. तलवों की मसाज करें -


पैर के तलवों की सूखी मालिश से लीवर की सक्रियता बढ़ती है। ऐसा लगभग 40-50 बार करें। बिस्तर पर जाने से पहले एड़ी से पैर की उंगलियों तक पैर के तलवों को रगड़ें। 


Conclusion -


लीवर खराब होने के बाद उसका इलाज करने के बजाय, एक स्वस्थ जीवन शैली और आदतों पर ध्यान केंद्रित करना आवश्यक है। लीवर के अनुकूल कुछ आदतों में संतुलित भोजन करने, शराब के सेवन से बचने, नियमित रूप से व्यायाम करने और संभावित हानिकारक दवाओं से खुद को बचाना  शामिल है।


    लीवर में कोई समस्या न आये इसके लिए आपको मोटापे और डॉयबिटीज़ से बचकर रहना है। अगर आपको लीवर की कोई भी समस्या है, तो बेहतर होगा कि अपने डॉक्टर से सलाह करने के बाद ही कोई उपाय करें।  


  आशा है ये आर्टिकल "Home Treatment For Liver-लीवर की सफाई के कामयाब नुस्खे" आपको पसंद आया होगा, इसे अपने मित्रों को शेयर कर सकते हैं। अपने सवाल एवं सुझाव कमेंट बॉक्स में लिखें। ऐसी ही और भी उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विज़िट करते रहें। 


also read -


Natural Ways to Cleanse Your Lungs-फेफड़ों की सफाई के घरेलू उपाय 


How to Sleep well-अच्छी नींद आने के उपाय 


Heroin, Cocaine, Meth and LSD-हेरोइन, कोकीन, मेथ और एलएसडी क्या है? 



No comments:

Post a comment

Post Bottom Ad