Morning walk ke fayde. सुबह पैदल चलने के लाभ - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Tuesday, February 19, 2019

Morning walk ke fayde. सुबह पैदल चलने के लाभ

Morning walk ke fayde सुबह पैदल चलने के लाभ क्या हैं

आधुनिक सुविधा युक्त जीवनशैली और वाहन क्रांति में हमारे जीवन को सुविधा पूर्ण बना दिया है। परिवहन के आधुनिक साधन अब विलासिता की निशानी नहीं, अपितु वर्तमान समय की आवश्यकता हो गई है। हम इन परिवहन सुविधाओं के इतने अभ्यस्त हो गए हैं कि पड़ोस की शॉप से दूध का पैकेट लाने के लिए भी पैदल जाने की जगह वाहन का प्रयोग करना पसंद करते हैं।

इन्हीं बदले हुए आचरण, खान-पान और रहन-सहन के चलते मोटापा आज एक बहुत बड़ी समस्या हो गई है। इसके अलावा ब्लड प्रेशर, हृदय रोग, गठिया जैसी बीमारियों में निरंतर वृद्धि हो रही है। पैदल चलने अनेक लाभ हैं, इसलिए वैज्ञानिकों एवं तनाव विशेषज्ञों द्वारा पैदल चलने की सिफारिश की जाती है।
2 girls walking

जगह का चुनाव --

जब हम टहलने के लिए बाहर निकलते हैं तो सड़क व गलियों में टहलने के स्थान पर पेड़-पौधों के मध्य पार्क के बीचो बीच सैर करने जैसी आदतों को प्राथमिकता देनी चाहिए। प्रदूषण मुक्त स्वच्छ वायु मे morning walk स्वास्थ्य प्रदान करने वाली एवं आयुवर्धक क्रिया है। हरे भरे वातावरण में पैदल चलने से हमारे शरीर को अधिक लाभ प्राप्त होता है।

मॉर्निंग वॉक से भरपूर ऊर्जा मिलती है मन आनंदित और प्रफुल्लित होता है. शरीर का रक्त संचरण ठीक होता है साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रिवेंटेटिव मेडिसिन में हाल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक अगर आप एक सप्ताह में 150 मिनट यानी रोज केवल 22 मिनट चलते हैं, तो आप कई गंभीर बीमारियों से बचे रहते हैं।

डॉक्‍टर ग्‍लैडवेल कहते हैं कि  लोगों को हरियाली युक्त जगह में  वॉक का अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए। इसके साथ ही उन्‍हें अपने शारीरिक क्रियाकलापों में भी बढ़ोत्तरी करनी चाहिए।वैसे भी चलना ही जिंदगी है तो क्यों न खूब पैदल चला जाएं। पैदल चलना प्रकृति प्रदत्त सुरक्षित ट्रेंकुलाइजर है, जो बिना दवा के हमें अनेक बीमारियों से बचाता है।
green-field


मॉर्निंग वाक के फायदे

1.मोटापा कम करने में --

1 किलोमीटर पैदल चलने से आप लगभग 100 केलोरी खर्च करते हैं जो आपके मोटापे को कम करने में सहायक है। अध्धयन में यह बात सामने आई है जो लोग जो 10 किलोमीटर प्रति सप्ताह चलते हैं वे अपनी आयु को 21 परसेंट बढ़ाते हैं।

शोध में पाया गया कि ग्रामीण इलाकों में 68.3% लोग काम पर जाने के लिए साइकिल का इस्तेमाल करते हैं और 12% लोग पैदल काम पर जाते हैं। निजी वाहन से काम पर जाने वालों का वजन साइकिल या पैदल काम पर जाने वालों से अधिक पाया गया। अगर आप पैदल चलने की आदत को अपनी रूटीन में शामिल करेंगे तो निश्चित रूप से अपने मोटापे को नियंत्रित कर सकेंगे।
girls on beach

2. दिल की बीमारियों में --

एक नए अध्ययन में कहा गया है जो भारतीय पैदल चल कर यह साइकिल चला कर काम पर जाते हैं उन्हें दिल की बीमारियों का खतरा बहुत कम होता है। इसकी मुख्य वजह यह है कि पैदल चलने या साइकिल चलाने से उच्च रक्तचाप की आशंका काफी कम हो जाती है।

शोधकर्ताओं ने कहा है कि शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से दीर्घकालिक बीमारियों के खतरे कम किए जा सकते हैं। उम्र अधिक होने या किसी बीमारी के चलते किसी अन्य व्यायाम को करने में परेशानी हो सकती है पर पैदल चलना उन सबमें निरापद और उत्तम है। प्रतिदिन 4km. पैदल चलने वाले से गठिया जैसी बीमारी दूर ही रहेगी।

3. महिलाओं के लिए --

वॉक करने से महिलाओं के दिल की सेहत भी मजबूत होती है. नर्स हेल्थ की एक रिसर्च की माने तो जो महिलाएं सप्ताह में 3 घंटे या उससे अधिक वॉक करती हैं तो उनमें 35 फीसदी हार्ट अटैक का खतरा उन महिलाओं के मुकाबले घट जाता है जो पैदल नहीं चलतीं। 

        रिसर्च में ये भी पाया गया कि मीनोपोज के बाद जो महिलाएं रोजाना 1 मील चलती हैं उनकी हड्डियां बहुत मजबूत रहती है। तनाव से मुक्ति के लिए रोज 20 से 40 मिनट की सैर तनाव के स्तर कम कर सकती है। इसलिए, डिप्रेशन से मुक्त होने के लिए नियमित सुबह की सैर कर सकते हैं। 
girl on mountain

4. मानसिक लाभ  --

एक रिसर्च  में पाया गया कि जो लोग सप्ताह में कम से कम 1.5 घंटे चलते हैं उनका दिमाग अधिक तेज होता है। यह एक तथ्य है कि घूमने से हमें मानसिक प्रसन्नता का संचार दिखाई देता है। पैदल चलना पूरी तरह से कायाकल्प कर सकता है।

         इतना ही नहीं, पढ़ने वाले बच्चों के लिए सुबह भ्रमण करना बेहद ही लाभदायक है क्योंकि सुबह नियमित रूप से टहलने से एकाग्रता का सहज ही विकास होता है जिससे याद करने में अधिक कठिनाई महसूस नहीं होती।


5. दीर्घायु बनाता है --

हिमाचल प्रदेश की घाटी में दीर्घायु लोगों ने अपनी लंबी उम्र का राज बताते हुए कहा है कि वे नियमित रूप से टहलते हैं। वैज्ञानिकों ने उन लोगों के जीवन का जो 90 से 100 वर्ष तक जीवित रहे हैं उनकी दिनचर्या का अध्धयन किया है उनमें से 95% से 98% लोग चलने व घूमने के अभ्यस्त थे।

        अगर स्वस्थ रहना है तो प्रकृति के करीब रहना होगा। प्रकृति से अच्छा चिकित्‍सक  कोई नहीं  है। इसका कोई जवाब नहीं।  एक ताजा शोध में यह बात एक बार फिर प्रामाणित हो गयी है। इस शोध में कहा गया है कि पेड़ों के साए में चलना आपके लिए बेहद फायदेमंद  है। इससे  तनाव के स्‍तर को कम करने में मदद मिलती है और  रक्‍तचाप भी नियंत्रित रहता है। वैज्ञानिकों ने तो यहां तक पाया है कि केवल जंगल को निहारने भर से  तनाव कम हो जाता है।
forest


also read -
1अदरक के फायदे

2. places to visit panchmarhi

वाक में इन बातों का ध्यान रखें --

1. अपनी शारीरिक स्थिती के अनुसार walk करें। स्टार्ट करते समय और अंत में हमेशा गति धीमी रखें। इतनी  तेज़ी से वॉक शुरू ना  करें कि जल्दी ही थक जाएं और थोड़ी देर में ही बैठना पड़े। 

2. walk करते समय बात कम करें, क्योकि मानसिक शांति के बिना वाक अधूरी होगी इसलिए जरूरी ना हो तो मोबाइल ऑफ रखें।


3. शरीर का तापमान नॉर्मल रखने के लिए ज्यादा पानी पीना चाहिए, इसलिए वॉक पर जाने से पहले और बाद में एक गिलास पानी अवश्य पिएं। 

4. वाकिंग के समय आपके जूते आरामदायक हों, ताकि वॉक करते समय तकलीफ न हो। जूते न ज्यादा टाइट होने चाहिए न ज्यांदा ढीलें। ऐसे होने चाहिए कि आसानी से पैरों को घुमाया जा सके।

 5. टहलते समय शारीरिक मुद्रा का विशेष स्मरण रखना जरूरी है अन्यथा अभीष्ठ लाभ नहीं मिलता। टहलते समय शरीर को बिल्कुल सीधा होना चाहिए तथा मुंह बंद होना चाहिए और सांस पूरी तरह नाक  से ही लेना चाहिए। तभी लाभदायक साबित होगा।

        विशेषज्ञों के अनुसार, प्रात:काल टहलने से मस्तिष्क में एंडोर्फिन हारमोन स्रावित होता है जिस कारण हमारा मूड परिवर्तित होता है और सकारात्मक भावनाएं उत्पन्न होती है। इसीलिए आज से ही पैदल चलने का अहम् फैसला कर लीजिए और तैयार हो जाइए सूर्योदय एवं सूर्यास्त के समय लंबी जॉगिंग करने के लिए जो कि दुनियां की सबसे बेहतरीन कसरत है।

          आशा है  "Morning walk ke fayde", ये पोस्ट आपको पसंद आई होगी, आपके कमैंट्स का स्वागत है, ऐसी ही उपयोगी जानकारी के लिए इस  वेबसाइट में विजिट करते रहें । 

     also read -

1. health ke liye alopathy ya naturopathy 

2. जुकाम का इलाज 




1 comment:

Post Bottom Ad