Business Strategy During Recession-मंदी से बिज़नेस को कैसे बचाएं - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Wednesday, 28 October 2020

Business Strategy During Recession-मंदी से बिज़नेस को कैसे बचाएं

 Business Strategy During Recession-मंदी से बिज़नेस को कैसे बचाएं 

 वैश्विक अर्थव्यवस्था में तेज़ी मंदी का दौर चलता ही रहता है, इसके विभिन्न कारण होते हैं। हाल ही में कोरोनोवायरस के प्रकोप और इसके प्रभाव से वैश्विक अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है। इससे लगभग सभी छोटे बड़े व्यापार एवं उद्योग प्रभावित हुए हैं, परन्तु छोटे कारोबारियों को इसने सर्वाधिक प्रभावित किया है और उनके सामने रोज़ी रोटी का संकट आ गया है। बीते समय में भी मंदी आती रही है, भले ही तब इसका कारण कुछ और था। आगे भी मंदी कब आएगी यह कहना अनिश्चित है। 

credit squeeze


   किसी भी समय वित्तीय अस्थिरता आने पर चाहे वह वैश्विक अर्थव्यवस्था में मंदी के कारण हो या बिज़नेस मैनेजमेंट में त्रुटि के कारण हो, आपको अपने व्यवसाय की नीतियों का पुनर्मूल्यांकन करने का समय होता है। किसी भी मंदी के दौरान अपने व्यवसाय को बनाए रखना मुश्किल है, लेकिन असंभव नहीं है।  


   छोटे उद्योग के मालिकों और छोटे कारोबारियों के लिए जरूरी है- मंदी के दौर में उत्पन्न चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना करना और अपने बिज़नेस के अस्तित्व को मंदी खत्म होने तक बचाये रखना। एक छोटे व्यवसाय के स्वामी के रूप में, आपको जीवित रहने के लिए कठोर कदम उठाने की बाध्यता होगी। जब आपके लघु उद्योग या व्यापार का अस्तित्व संकट में हो तब निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें - 


मंदी से बिज़नेस को बचाने के उपाय  (Business Strategy During Recession)


1. थोड़े लम्बे समय की प्लानिंग करें -


आपके लिए आर्थिक मंदी के समय में सबसे महत्वपूर्ण यही है कि बिजनेस सिनारियो नॉर्मल होने के अंत तक सर्वाइव करें। मंदी के दौर में यथार्थवादी लक्ष्य रखें और संभवतः 2 या अधिक वर्षों के लिए तैयार रहें। अगर आप अगले कुछ महीनों की तैयारी करके चलते हैं और यदि मंदी का समय अधिक बढ़ जाता है, तब हालात और बदतर हो जायेंगे। 


   इसलिए मंदी की आहट मिलते ही सतर्क होकर इमरजेंसी कदम उठायें, भले ही आपको कुछ कठोर निर्णय क्यूँ न लेना पड़े। अगर प्रारम्भ में छोटे छोटे कदम उठाएंगे तब आप लम्बे समय तक सर्वाइव नहीं कर पाएंगे।  


Recession

2. अपना कैश फ्लो पोजिशन देखें -


छोटे कारोबारी या बहुत छोटे उद्योगों के पास बहुत बड़ा वर्किंग कैपिटल नहीं होता है। उन्हें अपना कैश फ्लो पोजिशन देखना होगा और यह विचार करना होगा कि आगे अपने बिजनेस को सस्टेन करने के लिए उनके पास कैश फ्लो की स्थिति क्या है। उन्हें अपने पैसे आने की स्थिति की आज के संदर्भ में समीक्षा करनी पड़ेगी। 


    उन्होंने जहां अपना सामान या फैक्ट्री में निर्मित माल उधारी में दिया हुआ है, क्या वे अब उन्हें पैसे चुकाएंगे? क्योंकि मंदी के समय में बहुत सारे लोग जानबूझ कर भी छोटे कारोबारियों के पैसे नहीं चुकाते, जबकि मार्केट में बिक्री की कमी के कारण छोटे दुकानदार के यहां माल जाम होता है, इस कारण वह अपने सप्लायर का पेमेंट नहीं कर पाता।अगर मिनी फैक्ट्री के मालिक को लगता है कि आने वाले कुछ महीने तक वे फैक्ट्री नहीं चला सकते हैं तो उन्हें स्केल डाउन करना होगा।


Drill machine


 3. खर्चों में कटौती करें -


जब मंदी का माहौल हो तब आपके व्यवसाय से जुड़े मासिक व्यय को कम करना महत्वपूर्ण कदम है। इसके लिए अपनी अकाउंट बुक पर गहरी दृष्टि डालिये, आपके व्यवसाय में कितना पैसा आ रहा है और किस मद में बाहर जा रहा है इसे देखिये। खर्च वाले इन मदों पर अपना फोकस करिये -


A. मासिक किराया कम करवायें -


अगर आप किराये पर दुकान लेकर अपना व्यवसाय कर रहे हैं तो अपने मकान मालिक से किराया कम करने के लिए बातचीत करें। उन्हें परिस्थिति से अवगत करवाएं और बताएं कि वर्तमान स्थिति में दुकान का किराया तक निकालना मुश्किल है। 


   आपके मकान मालिक को भी मंदी का अहसास है और वे चाहेंगे कि जगह महीनों तक खाली रहे इसकी बजाय आप कम किराए पर बने रहें।  यदि वे आपका किराया कम करते हैं तो यह आप दोनों के लिए बेहतर है।


B. उपयोगिताओं पर छूट प्राप्त करें -


अपने सभी उपयोगिताओं जैसे पानी, बिजली, इंटरनेट और फोन पर विचार करें। अपने वर्तमान सेवाप्रदाताओं के विकल्पों पर ध्यान दें। दूसरी कंपनियों को कॉल करें और उन्हें बताएं कि आप उनकी सर्विस लेने के लिए तैयार हैं, यदि वे आपको एक बड़ी छूट दे सकते हैं। नए ग्राहकों को जोड़ने के लिए अक्सर ऐसी छूट कुछ समय के लिए दी जाती है, इसका पूरा लाभ उठायें।  


   एक बार जब आपको ये पता लग जाता है कि स्विच करके आप कितना बचा सकते हैं, तो अपने वर्तमान सेवाप्रदाताओं को कॉल करें। उन्हें ऑफ़र से मिलान करने के लिए कहें, हो सकता है वे तैयार हो जाएँ और आपको  स्विचिंग की परेशानी से न गुजरना पड़े।



C. फिजूल खर्ची में कटौती करें -


अपने व्यवसाय स्थल के बिजली बिल में कटौती करने पर ध्यान दें। देखें कि शाम के समय में ग्राहकों का आना कितने बजे के बाद लगभग बंद हो जाता है। अगर आपको लगता है कि देर शाम 7 -8 बजे के बाद इक्का दुक्का ग्राहक ही दुकान पर आते हैं तो देर तक दुकान खोलना अपने बिजली बिल के खर्च को बढ़ाना ही होगा। दुकान खुलने के समय को घटाकर आप बिजली बिल में कटौती कर सकते हैं। 


 अख़बार और पत्रिका में दिए जाने वाले विज्ञापन सामान्य दिनों में जरूर लाभदायक होते हैं परन्तु मंदी के दौरान इनके जरिये ग्राहकों को खींचने का लक्ष्य पूरा नहीं होता। क्योंकि ऐसे समय में आपके ग्राहक भी आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे होते हैं। उनके सामने भी नौकरी से निकाले जाने, वेतन में कटौती जैसी परेशानियां होती है।


   अपने पेट्रोल और यात्रा व्यय को कम करें। ऐसे समय में व्यवसायिक उद्देश्य को लेकर की गई यात्रायें इच्छित परिणाम नहीं दे पाती, इसलिए उन्हें स्थगित करना ही श्रेयस्कर होगा। वसूली के लिए जाने की बजाय अपने ग्राहकों को ऑनलाइन पेमेंट के लिए कहें।  


D. खरीद के बजाय किराये पर लें -


आर्थिक मंदी के समय अपने बिज़नेस विस्तार के लिए खरीदी योजना को स्थगित रखें। कोई नया कंप्यूटर या फैक्ट्री के लिए किसी मशीन अथवा वाहन की आवश्यकता है तो खरीदने के बजाय इसे किराये पर प्राप्त करें या संबंधित वर्क दूसरों से ही करवा लें। ऐसे समय में आपके पास उपलब्ध कैश पोजीशन ही बिज़नेस को बचाने में मददगार होगी। 


welding


4. कर्मचारियों की छंटनी -


कभी-कभी अपने उद्योग या व्यवसाय के अस्तित्व के लिए कर्मचारियों की छंटनी आवश्यक हो जाती है, मांग में कमी आने के कारण ऐसा होता है। यदि आपको कर्मचारियों की छंटनी करनी है, तो सुनिश्चित करें कि जल्दी जल्दी ऐसा न करना पड़े। आपको एक बार में ही इतने कर्मचारियों की कटौती  करनी है कि अगले 6 महीने तक दोबारा छंटनी की जरूरत न पड़े


   यदि आप बहुत कम लोगों को हटाते हैं और शेष कर्मचारियों को बताते हैं कि आने वाले समय में और अधिक लोगों को निकालना पड़ सकता है, तो हर कोई अपनी नौकरी के लिए डर जाएगा। इस प्रकार आशंकित लोगों की टीम प्रभावी रिजल्ट नहीं दे पाती है।


   यदि आप निकट भविष्य में और भी छंटनी की उम्मीद करते हैं, तो इसे बाद में करने के बजाय जल्द ही करें। भले ही शुरू में यह अरुचिकर होगा, लेकिन बिज़नेस को इससे लाभ होगा। आपके शेष कर्मचारी चिंता करना बंद कर सकते हैं और निकाले गए कर्मचारी भी स्थिति सामान्य होने पर काम करने के लिए वापस आ सकते हैं।


man lifting hot metal


 5. वेतन कम करने से पहले घंटे कम करें -


आप किसी कर्मचारी को निकालने की बजाय उनके वेतन में कटौती करते हैं, तो पहले उसके काम के घंटे कम करें। यदि आप वेतन तो कम करते हैं लेकिन उनसे उतने ही घंटे काम करने के लिए कहते हैं, तो इससे उत्पादकता प्रभावित होगी। 


   इसलिए पैसे बचाने का एक बेहतर विचार यह है कि आप समान रूप से वेतन और काम के घंटे दोनों में कटौती करें। कर्मचारियों से समान स्तर की उत्पादकता को बनाए रखने का यह अच्छा तरीका है। अपने स्टोर या वर्कशॉप को 1 घंटा पहले बंद करके आप इस लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। 


6. नकदी को जल्दी से इकट्ठा करें -


अपने खर्चों को कम करने के बाद, अगला कदम है नकदी की आमद को बढ़ाना। ऐसे समय में अधिकतर व्यवसायों की तरह, आप भी राजस्व में गिरावट का सामना करते हैं। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए कुछ ठोस कदम उठायें। 


   अपने ग्राहकों से उधारी वसूलने की कोशिश करें जिससे आपके पास अधिक से अधिक कैश इन हैंड की स्थिति बन सके। ऐसे समय में उधारी वसूलना कठिन होता है इसके लिए उन्हें जल्द भुगतान करने पर 1-2% की छूट दे सकते हैं।


7. क्रेडिट पर बेचने से बचें -


ऐसे समय में उधारी पर माल बेचने से आपके बिज़नेस के अस्तित्व पर संकट आ सकता है। यदि उधारी देना बहुत आवश्यक हो तो सुनिश्चित करें कि आप अपने सर्वश्रेष्ठ ग्राहकों को केवल सीमित समय के लिए क्रेडिट सुविधा दे रहे हैं। इसके अलावा उधारी वसूलने में ढिलाई न हो, अपने ग्राहकों को पहले ही बता दें कि उन्हें नियत तारीख तक भुगतान करना होगा।


also read -

6 Realistic Ways to Get Rich-अमीर बनने के 6 प्रैक्टिकल तरीके 


Economy


8. नया मार्केटिंग अभियान चलाएं -


उपभोक्ता किसी भी मंदी के समय में कम खर्च करते हैं, वे केवल आवश्यक चीज़ों की खरीदी करना चाहते हैं। आवश्यक वस्तुओं के रेट में थोड़ी कमी करके आप उन्हें अधिक खरीद करने के लिये प्रेरित कर सकते हैं। इस प्रकार आप अपनी सेल को बढ़ाकर मंदी को पछाड़ देंगे।


   ध्यान दें कि अधिक डिमांड कायम रखने के लिए कीमतों में कमी करना लुभावना है, लेकिन यह एक स्थायी तरीका नहीं है। परन्तु मंदी के समय में इस रणनीति के जरिये कैश फ्लो को बनाये रखने में मदद मिलेगी। अपने मार्केटिंग संदेश में ग्राहकों को मूल्य की कटौती के बारे में बताएं। 


9. अपने ग्राहकों से सम्पर्क रखें -


अपने ग्राहकों से ईमेल व मैसेज के जरिये सम्पर्क करें, इससे उन्हें लगेगा कि आप उन्हें महत्वपूर्ण समझते हैं। अपने ग्राहकों को आपके द्वारा किये गए रेट कट की जानकारी दें और कि मंदी के दौरान आपके कम दाम और भी महत्वपूर्ण हैं। यदि आपके रेट सबसे सस्ते नहीं हैं, लेकिन आप एक अच्छे ब्रांड या बेहतर ग्राहक सेवा प्रदान करते हैं, तो अपने ग्राहकों को दी गई पिछली सेवाओं की याद दिलाएं।


व्यवसाय के लिए मंदी का समय सबसे खराब होता है, लेकिन ऐसे समय में आपके सबसे अच्छे ग्राहकों को बचाना आवश्यक है। अपने बड़े ग्राहकों की अनदेखी आपको भारी पड़ सकती है, इससे भविष्य में आपके व्यवसाय पर बहुत बुरा असर पड़ सकता है। अपने वर्तमान और भविष्य के संबंधों पर चर्चा करने के लिए उन्हें आमंत्रित करें। जब आप आमने-सामने मिले, तो उन्हें बताएं कि आप उनकी जरूरतों के बारे में भी चिंतित हैं।


also read -


Event Management Business-इवेंट मैनेजर कैसे बनें 


Drug Varieties-गांजा भांग, चरस हशीश क्या है?कैसे बनता है?


5 Future Business Ideas-भविष्य के 5 कम बजट बिज़नेस 


writing in notebook


 10. बड़ा स्टॉक न रखें -


अपने पास कैश की स्थिति बढ़ाने के लिए बड़े स्टॉक की मात्रा को कम करने की दिशा में सोचें। इन्वेंट्री कम करके कैश को फ्री करना ऐसे समय में जरूरी होता है। आप अपने आपूर्तिकर्ता से भी एक बार में ही अधिक सामान लेने के बजाय डिलीवरी की आवृत्ति बढ़ाकर छोटी क्वांटिटी में माल ले सकते हैं  इससे आपका स्टॉक लिमिटेड होगा और एकाउंट में अधिक पैसा रह पायेगा। 


11. नए अवसरों की तलाश करें -


ऐसे समय में काम का दबाव कम होता है, इसलिए आप उन योजनाओं पर काम कर सकते हैं जिसे आपने सोचा था पर लागू नहीं कर पाए। जैसे दुकान की सजावट में कोई सुधार व फर्नीचर आदि के स्थान में परिवर्तन या फैक्ट्री में उपलब्ध साधनों से ही किसी नए प्रोडक्ट का निर्माण जैसी चीज़ें कर सकते हैं। 


   यह समय आपके व्यवसाय की नेटवर्किंग का है। ऐसे समय में न केवल अपने ग्राहकों से सम्पर्क करें बल्कि उस बिज़नेस से जुड़े दूसरे लोगों से भी बात कर सकते हैं। यह आपके ज्ञान को बढ़ाने वाला होगा कि वर्तमान में उद्योग या व्यवसाय में क्या हो रहा है।


12. कर्ज का प्रबंधन -


अगर आपने बैंक से व्यवसायिक लोन ले रखा है तो अपने बैंक से बात करें और उन्हें लोन रिस्ट्रक्चरिंग के लिए कहें। यदि लोन पेमेंट की अवधि बढ़ाकर किश्त की राशि कम की जाती है तो आपके लिए बड़ी राहत की बात होगी। कैश उपलब्ध होने पर अपने उच्च-ब्याज वाले ऋणों का भुगतान पहले करें।


 आशा है ये आर्टिकल "Business Strategy During Recession-मंदी से बिज़नेस को कैसे बचाएं" आपको उपयोगी लगा होगा। इसे अपने मित्रों तक शेयर कर सकते हैं। अपने सवाल और सुझाव कमेंट बॉक्स में लिखें। ऐसी ही और भी उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विज़िट करते रहें। 


also read -


17 Recession Proof Business-17 बिज़नेस जो कभी बंद नहीं होंगे 


Ultrasonic Pest Repeller-अल्ट्रासोनिक पेस्ट रिपेलर -एक धोखा 


8 Tips to Stop Over Thinking-ज्यादा सोचने की आदत से कैसे बचें 


No comments:

Post a comment

Post Bottom Ad