Peepal tree health benefits. पीपल के फायदे - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Saturday, May 18, 2019

Peepal tree health benefits. पीपल के फायदे

 Peepal tree health benefits.पीपल के फायदे 

अपनी उपयोगिता और औषधीय गुणों के कारण पीपल का वृक्ष सर्वाधिक पूजनीय पेड़ों में से एक है और इसे "देव वृक्ष" कहा गया है।पीपल के वृक्ष के नीचे मंत्र, जप और ध्यान तथा सभी प्रकार के संस्कारों को शुभ माना गया है।  पीपल  के पेड़ को देव मंदिरों के आसपास लगाने की  हमारे देश में प्राचीन परम्परा रही है। हमारे ऋषियों और मनीषियों ने पीपल के अलौकिक गुणों को बहुत पहले जान लिया था।  पीपल का पेड़ औषधीय गुणों की खान है। इसके पत्ते, जड़, छाल और बीज का प्रयोग कई बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है।  यह एक ऐसा पेड़ है जो  24 घंटे ऑक्सिजन देता है।
young-pipal-leaves


     पीपल से हम त्वचा रोग, कब्ज़, गुर्दे की बीमारी, अस्थमा, नपुंसकता  आदि रोगों का ठीक कर सकते है। इसके फलों का चूर्ण लेने से बांझपन दूर होता है और पौरुष में वृद्धि होती है। पीपल के पत्‍तों में ग्‍लूकोज, फेनोलिक, मेनोस आदि पोषक तत्व होते है जबकि इसकी छाल में विटामिन K अच्छी मात्रा में पाया जाता है। इनमें एंटीऑक्सिडेंट और खनिज पदार्थ भी होते है। तभी पीपल को  औषधीय पेड़ कहा जाता है।आइये जानते है पीपल के पत्ते, छाल और फल के औषधीय गुण और उपयोग के बारें में।

पीपल के औषधीय गुण और उपयोग 

1. पेट के रोगों में - 

अपने पित्‍त नाशक गुणों के कारण पेट की समस्याओं में इसका प्रयोग लाभप्रद होता है। पीपल के पत्तों का प्रयोग करने से कब्ज और पेट में गैस की समस्या दूर होती है। इसके लिए  ताजे पत्‍तों का एक चम्‍मच रस निकालकर सुबह शाम पीना चाहिए। इसके फल और पत्तों का रस मृदु विरेचक है और कब्ज़ को दूर करता है। 


       यदि पेट दर्द हो रहा हो तो पीपल की पत्तियों को बारीक़ पीस लें फिर  इसमें गुड़ मिला कर दिन में तीन से चार बार इसका सेवन करें।यह  पेट दर्द को दूर करने के साथ पेट की अन्‍य समस्‍याओं को भी दूर करेगा। 

         यदि किसी को खूनी दस्‍त की शिकायत हो तो पीपल के पत्‍तों से इस समस्या को दूर कर सकते है। इसके लिए सामग्री है - धनिया के बीज और  शक्‍कर। दोनों को पीपल के कोमल पत्‍तों के साथ बारीक होने तक पीसे। इस मिश्रण का सेवन दिन में दो बार करना होगा, जब तक समस्‍या दूर नहीं हो जाती । 
peepal -tree




2. दांतों को मजबूत बनाएं - 

यदि दांतों में दर्द हो रहा हो तो पीपल की दातुन करें। इससे दांत मजबूत होकर दांतों में दर्द की समस्या समाप्त होती है। अगर इसका मंजन बनाकर नियमित प्रयोग करेंगे तो अधिक लाभ होगा। इसके लिए 10 ग्राम पीपल की छाल, कत्था और 2 ग्राम काली मिर्च को बारीक पीसकर बनाए गए मंजन का प्रयोग करने से भी दांतों की समस्याएं समाप्त होकर दांत मजबूत होते हैं।

3. त्‍वचा रोगों में -

त्‍वचा संबंधी परेशानियों से निजात दिलाने में भी पीपल आपकी मदद करेगा। हाथ -पाँव फटने पर पीपल के पत्तों का रस या दूध लगाए। पीपल की छाल को घिसकर लगाने से फोड़े फुंसी और जलने से हुए घाव भी ठीक हो जाते है। त्‍वचा में होने वाली खुजली और चर्म रोग को दूर करने के लिए पीपल की पत्तियों का पेस्‍ट लगाया जा सकता है।

        खुजली मिटाने के एक अन्य प्रयोग में 50 gm पीपल की छाल लेकर उसे जला कर राख बना लें। फिर उसमें नींबू का रस और घी मिला कर अच्छी तरह से मिक्स करें और खुजली से प्रभावित जगह में इस पेस्ट को लगाएं। इसे लगाने से फायदा मिलेगा। इस प्रयोग को करने के साथ पीपल वृक्ष की छाल लेकर उसे पानी में उबालें। फिर इसे छानकर चाय के रूप में इसका सेवन करें।

         पीपल का उपयोग सौंदर्य वृद्धि के लिए भी किया जाता है। त्वचा का रंग निखारना हो तो पीपल की छाल के पाउडर का लेप करें या इसके पत्तों को पीसकर लगाएं। यह त्वचा की झुर्रियों को कम करने में भी मदद करता है। इसके लिए पीपल की ताजी जड़ को भिगोकर त्वचा पर इसका लेप करने से झुर्रियां कम होने लगती हैं।  
huge-pipal-tree

4. पीपल का फल रक्त शोधन में -

खून की अशुद्धियों को दूर करने में पीपल का फल काम आता है। पीपल के फलों को सुखाकर इसका पाउडर बना लें। इस पाउडर में शहद मिलाकर इसका उपयोग प्रतिदिन तीन बार सकते है। यह प्रयोग रक्त की अशुद्धियों को दूर करके खून को साफ करता है। 

    पीपल की पत्तियों से फटी हुई ऐडियों का उपचार संभव है। पीपल पत्तियों का पेस्‍ट ऐडियों के घाव और दर्द को कम करता है। पीपल एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है, इसके कोमल पत्तों को नियमित रूप से चबाने पर तनाव में कमी होती है, और बढ़ती उम्र का असर भी कम होता है। 


5. पीलिया रोग में -

पीलिया होने पर पीपल के 5 नए पत्ते लेकर उसका रस निकालकर उसमें  मिश्री मिलाकर शरबत बनायें।  दिन में 2 बार इसका सेवन 5 दिनों तक करने से पीलिया में फायदा होता है। इस प्रयोग को करने से लीवर की कमजोरी भी दूर होती है। 


6. यौन रोगों के लिए पीपल का फल

पीपल के फलों का पाउडर बनाकर इसे दिन में 2 बार दूध में आधा चम्‍मच की मात्रा में मिलाकर सेवन करें। यह प्रयोग नपुंसकता को दूर करके शरीर को शक्तिशाली बनाएगा। इससे औरतों का बांझपन भी दूर होता है। पीपल के 5 पत्ते लेकर पीस लें फिर इसमें 1 चम्मच मिश्री मिलाकर पानी में घोल कर पीने से यूरिन में इन्फेक्शन की समस्या दूर होती है। 

also read -

1.advatage of banana.kele khane ke labh

2.anar ka paudha kaise lgaye.anar ke fayde
pipal-green-leaves



7. दमा के लिए पीपल की छाल  और फल -

दमा रोग को कम करने और उससे मुक्‍त कराने में पीपल हमारी मदद करता है। इस रोग को दूर करने के लिए पीपल की छाल और फल लेकर उसका बारीक पाउडर बना लें। दोनों को समान मात्रा में मिलाकर सेवन करने से अस्‍थमा रोग का उपचार किया जा सकता है।


8. सांप काटने पर - 

चिकित्सीय सहायता उपलब्ध न होने से सांप के काटे जाने पर पीपल की कोमल पत्तियों का रस पियें या उसकी पत्तियों को चबाएं। इससे सांप के विष का असर कम होगा।

         इस तरह से पीपल का वृक्ष स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याओं को दूर करने में सक्षम है। परन्तु पीपल के वृक्ष को घर में लगाने का निषेध किया गया है। जिसका मुख्य कारण समझा जा सकता है कि बड़ा होने पर पीपल विशाल रूप ले लेता है और भारी हो जाता है। जिससे स्वाभाविक रूप से उसके नीचे मकान को खतरा हो सकता है। 

       आशा है ये आर्टिकल "Peepal tree health benefits. पीपल के फायदे" आपको पसंद आया होगा इसे शेयर करें। ऐसी ही अन्य उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विजिट करते रहें.

also read -

1. heat stroke home remedies

2. benefits of coconut water


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad