Online Food Delivery-भारत के शीर्ष 5 फ़ूड डिलीवरी ऐप - sure success hindi

success comes from knowledge

Breaking

Post Top Ad

Monday, August 3, 2020

Online Food Delivery-भारत के शीर्ष 5 फ़ूड डिलीवरी ऐप

Online Food Delivery-भारत  के शीर्ष  5 फ़ूड डिलीवरी ऐप

एक अनुमान के अनुसार वर्तमान समय में भारत में 50 करोड़ से अधिक स्मार्टफोन उपयोगकर्ता हैं। स्मार्टफोन ने हमारे जीवन को आसान बना दिया है। बिल का भुगतान करने से लेकर अनेक सुविधाएँ हमारे फोन के जरिये हमें मिल रही हैं। इसमें उपलब्ध मोबाइल ऐप से हम घर बैठे बहुत से काम कर सकते हैं। ऐसा ही एक उपयोगी ऐप है- ऑन-डिमांड फूड डिलीवरी ऐप। 
online-food-delivery-app
   इस ऐप का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको रेस्टोरेंट जाकर वहां अपने आर्डर का इंतज़ार करने की जरूरत नहीं है। अपने घरों में आराम से टीवी पर अपने मनपसंद कार्यक्रम का आनंद लेते हुए खाने का आर्डर करिये और आधे घंटे में आपके घर के दरवाजे पर डिलीवरी बॉय खाना लेकर हाजिर होता है। ये ऐप न केवल सुविधाजनक हैं, बल्कि ये आपको बिल में आकर्षक छूट भी प्रदान करते हैं।

  इसके लिए आपको बस इतना करना है कि किसी अच्छे फूड डिलीवरी ऐप को डाउनलोड करें, खुद को पंजीकृत करने के लिए अपना विवरण भरें। फिर आपको स्क्रीन पर आकर्षक छूट के साथ विभिन्न रेस्तरां से कई मेनू दिखाई पड़ते हैं। उसमें से अपने पसंदीदा खाद्य पदार्थ का चयन करें और ऑर्डर करें। इसमें भुगतान का भी कोई झंझट नहीं है चाहें तो अपने स्मार्टफोन के माध्यम से भुगतान करें या डिलीवरी पर नगद भुगतान करें। 
   
  फूड डिलीवरी ऐप्स की सफलता का एक कारण इनकी मुफ्त और तेज़ डिलीवरी भी है। इससे न केवल समय बचता है, बल्कि अपने घर या ऑफिस के सुविधाजनक वातावरण में आप भोजन का आनंद ले सकते हैं।साथ ही, ये ऐप भोजन सप्लायर की लागत में कटौती करके उनकी मदद करते हैं। ऑनलाइन उपस्थिति के कारण उन्हें ग्राहक के बैठने, खाना परोसने जैसे कार्य नहीं करने पड़ते।

pizza-home-delivery

    खाद्य उद्योग एक बहुत बड़ा व्यवसाय है, इसमें फ़ूड डिलीवरी बिज़नेस की हिस्सेदारी अभी भी बहुत कम है। इस अवसर को पहचानकर कई कंपनियाँ इस बिज़नेस में आ रही हैं, जिनमें कुछ ने अपने पैर जमा लिए हैं। यह अनुमान है कि 2022 तक दुनिया भर में फ़ूड डिलीवरी बिज़नेस बढ़कर 956 मिलियन डालर का होगा।

 भारत में कई फूड डिलीवरी कंपनियां इस काम को बेहतर बनाने के लिए काम कर रही हैं। ये अपने ऐप को परिष्कृत और परेशानी मुक्त बनाने के लिए उन्नत कदम उठा रही हैं। इसका फायदा भी इन्हें मिला है और इनके जरिये पूरे हुए दैनिक ऑर्डर का प्रतिशत प्रमुख शहरों में लगातार बढ़ रहा है।

 यह प्रवृत्ति बैंगलोर, पुणे, दिल्ली, गुड़गांव, हैदराबाद, चेन्नई और मुंबई जैसे शहरों में अधिक देखी जा रही है। आइये भारत के सर्वश्रेष्ठ 5 फूड डिलीवरी ऐप पर एक नज़र डालें। 
food-delivery-by-scooty

भारत के शीर्ष 5 फ़ूड डिलीवरी ऐप (Best 5 Food Delivery Apps In India) 

1. जोमैटो (Zomato) -

Zomato फ़ूड डिलीवरी ऐप भारत के अधिकांश बड़े शहरों और टियर बी शहरों में एक अत्यधिक लोकप्रिय फ़ूड डिलीवरी ऐप है। ऑनलाइन फ़ूड आर्डर करने वाले लगभग सभी फूड लवर्स के फोन में यह ऐप मिल जायेगा। इस ऐप को 2008 में दीपिंदर गोयल और पंकज चड्ढा द्वारा लॉन्च किया गया था। 

  इसकी शुरुआत, रेस्टोरेंट्स के बारे में समीक्षा और जानकारी प्रदान करने के साथ की गई थी। जिसे बाद में ऑनलाइन टेबल आरक्षण और ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी के लिए सुव्यवस्थित किया गया। 
  पहले इसका नाम Foodiebay था जिसे 2010 में बदलकर Zomato किया गया। यह दुनिया भर के 24 देशों से अधिक देशों सक्रिय है जिनमें U.K.,U.S.A., ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका, सऊदी अरब, ब्राज़ील, पुर्तगाल जैसे देश शामिल हैं। 

 Zomato फूड डिलीवरी ऐप अपने उपयोगकर्ताओं को सर्वश्रेष्ठ रेस्टोरेंट्स की सूची प्रदान करता है। इसके साथ यह खाने के लिए ट्विटर या फेसबुक जैसे सोशल नेटवर्क के रूप में भी काम करता है। 

   सबसे अच्छे फूड ऑर्डर करने वाले ऐप्स में से एक ज़ोमैटो (Zomato) उपभोक्ता के लाभ के लिए एक ही मंच पर आपके जीपीएस स्थान द्वारा फ़िल्टर किए गए बड़े और छोटे रेस्तरां को दर्शाता है।


  इसमें नवीनतम अपडेट के साथ एक ही जगह सभी प्रश्नों के उत्तर और समीक्षा करने का अवसर मिलता है। यहां आप फ़ूड आर्डर करने से पहले उन लोगों से भी समीक्षा प्राप्त कर सकते हैं, जिन्हें उस स्थान के साथ अनुभव मिला है। जोमैटो अपने उपभोक्ताओं को डिस्काउंट प्रदान करने और समय पर डिलीवरी देने में अग्रणी है। 

   10 करोड़ से अधिक इंस्टॉल और 4.2 रेटिंग वाला यह ऐप  एंड्रॉइड और आईओएस दोनों पर उपलब्ध है और इसके 8 करोड़ एक्टिव मंथली यूजर्स हैं। 

 ज़ोमैटो कैश ऑन डिलीवरी और ऑनलाइन भुगतान की सुविधा भी प्रदान करता है और ऑर्डर की लाइव ट्रैकिंग भी प्रदान करता है। 

 अब जोमैटो ड्रोन के जरिये आप तक खाना पहुंचाने के कार्य की शुरूवात  कर चुकी है। इससे ग्राहकों तक खाना पहुंचने में लगने वाला समय और कम हो जायेगा। 
zomato-swiggy


  ऑनलाइन फूड डिलिवरी के क्षेत्र में उबर ईट्स (UberEats) इसकी प्रतिद्वंदी कंपनी थी। अब जोमैटो ने उबर ईट्स का भारतीय कारोबार खरीद लिया है।  माना जा रहा है यह डील 350 मिलिसन डॉलर यानी करीब 2485 करोड़ रुपये में हुई है। 

   बताया जा रहा है कि उबर ने घाटे की वजह से फूड डिलिवरी बिजनेस जोमैटो को बेचने का फैसला किया। उबर को जोमैटो और स्विगी जैसी कंपनियों से तगड़ा कॉम्पिटीशन मिल रहा था। 

2. स्विगी (Swiggy) -

स्विगी, ऑनलाइन फूड डिलीवरी ऐप में शीर्ष रेटेड मोबाइल ऐप है। Swiggy को भारत में नंबर 1 ऑनलाइन फूड डिलीवरी ऐप का दर्जा दिया गया है और इसका नेविगेशन बेहद आसान है। स्विगी देशभर के लगभग सभी प्रमुख शहरों में उपलब्ध है।

  2013 में दो संस्थापकों Sriharsha Majety and Nandan Reddy ने कूरियर सेवा और सामानों की डिलीवरी के लिए "Bundl" नाम से एक वेबसाइट बनाकर काम शुरू किया था।

   जल्दी ही इस काम को रोककर इन्होंने फ़ूड डिलीवरी मार्केट में कदम रखा और राहुल जैमिनी को अपने साथ जोड़कर, जो उस समय Myntra में थे 2014 में Swiggy और मूल होल्डिंग कंपनी   Bundl Technologies की स्थापना की। 

   उन्होंने बैंगलोर में फ़ूड डिलीवरी के साथ अपनी यात्रा शुरू की और अब यह भारत के 300 से अधिक शहरों में उपलब्ध है। Swiggy ने थोड़े ही समय में ऑनलाइन फूड डिलीवरी स्पेस में अपने लिए एक प्रतिष्ठा प्राप्त की है।
delivery-man

 स्विगी सभी आयु समूहों के बीच लोकप्रियता हासिल कर रहा है। खाद्य पदार्थों का तेजी से वितरण, लाइव ऑर्डर ट्रैकिंग, और मिनिमम बिल का बंधन नहीं होने के कारण इसकी सराहना की जाती है। स्विगी में रेस्टोरेंट्स की वृहद श्रंखला की उपलब्धतता और डिस्काउंट देना, कुछ अन्य कारक हैं जो इसे लोकप्रिय बनाते हैं।

    Swiggy को प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है, यह  IOS और Android दोनों संस्करण  में उपलब्ध हैं। डेबिट और क्रेडिट कार्ड के साथ अन्य ऑनलाइन भुगतान सहित नगद भुगतान सुविधा भी इसमें उपलब्ध है। 

  Swiggy food ऐप ग्राहकों को उनके पसंदीदा नज़दीकी रेस्तरां से उपयोगकर्ता के स्थान का पता लगाकर उनके पसंदीदा भोजन का ऑर्डर देता है, ताकि एजेंट जल्द से जल्द भोजन वितरित कर सके। आप अपनी पसंद का भोजन और रेस्तरां खोजने के बाद  अपना ऑर्डर देने से पहले समीक्षा और रेटिंग की जांच कर सकते हैं। 
  डिलीवरी बॉय को ट्रैक करने के लिए Swiggy उपयोगकर्ताओं के पास लाइव-लोकेशन मैपिंग है।  न्यूनतम बिलिंग राशि का कोई प्रतिबंध नहीं होने से और त्वरित सेवा के कारण, स्विगी ऑनलाइन फूड डिलीवरी डोमेन में सबसे आगे है।

3. ट्रेवल खाना (TravelKhana) - 

अगर आपको तलाश है ट्रेन में अपने सफर के दौरान ई-कैटरिंग सेवा प्रदाता की जो आपके पसंदीदा भोजन को आपके इच्छित स्टेशन में पहुंचाकर दे सके तो TravelKhana आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है। पुष्पिंदर सिंह द्वारा सितंबर 2012 में स्थापित, इस ऐप का उद्देश्य रेल यात्रियों को  विभिन्न रेस्तरां के भोजन कई  विकल्पों के साथ उनके स्टेशन में प्रदान करना है।

   TravelKhana दैनिक आधार पर हजारों यात्रियों की सेवा कर रहा है।यह 250 से अधिक स्टेशनों और 4000 से अधिक ट्रेनों में खानपान सप्लाई कर रहा है।

  TravelKhana  यात्रियों को उच्च गुणवत्ता की धारणा के साथ स्नैक्स, पेय पदार्थ और विभिन्न प्रकार के व्यंजन चुनने का मौका देता है, जो उनके ग्राहकों के बजट के अनुरूप हों। यात्री चाहें तो दक्षिण भारतीय या उत्तर भारतीय भोजन, इतालवी, जैन थाली, हल्के नाश्ते, शाकाहारी या मांसाहारी में से किसी भी विकल्प का चुनाव कर सकते हैं।
train-food-delivery-service

TravelKhana में ऑर्डर कैसे करें?

अपने स्मार्टफ़ोन में TravelKhana ऐप डाउनलोड करें, फिर उस स्टेशन के बारे में निर्णय लें जिस पर आप भोजन की डिलीवरी लेना चाहते हैं।  मेनू  से तय करें कि आप क्या ऑर्डर करना चाहते हैं, जो आपके स्वाद के साथ-साथ आपके बजट के अनुसार है। अपनी पसंद का खाना ऑर्डर करने के लिए, निम्न चरणों से गुजरें और ऑर्डर दें -

A. अपने पीएनआर (PNR) नंबर को फीड करें।

B. ड्रॉप डाउन से उस स्टेशन का चयन करें जिस पर भोजन पहुंचाना है।

C. अपनी बास्केट में अपने मनपसंद खाद्य पदार्थों को जोड़ें।

D. भुगतान मोड का चयन करें और लेनदेन को इच्छानुसार करें।

  अब आपको आराम से बैठना है और अपने स्टेशन आने का इंतजार करना है।TravelKhana की इतने कम समय में सफलता का कारण कंपनी का सभी प्रसिद्ध रेस्तरां से जुड़ना और निर्धारित समय के भीतर और बेहतर गुणवत्ता मानकों के साथ भोजन की सप्लाई सुनिश्चित करना है। 

4.  फासोस (faasos) -

कल्लोल बैनर्जी और जयदीप बर्मन ने 2011 में पुणे शहर में फासोस की स्थापना की थी। यह भारत के 15 से अधिक शहरों में ऑपरेशनल है।फ़ासोस का एक प्रीमियम संस्करण है जिसे बोल्ट कहा जाता है जिसमें यदि ऑर्डर 30 मिनट के भीतर वितरित नहीं किया जाता है, तो ऑर्डर मुफ़्त है। 

  फ़ासोस अपने उपयोगकर्ताओं को अच्छा और स्वादिष्ट खाना प्राप्त करने में मदद करता है। यह रेस्तरां की एक विस्तृत श्रृंखला के साथ सभी प्रकार के खाद्य पदार्थों के लिए कई वैरायटी परोसता है। आप विभिन्न प्रकार के व्यंजनों में से चुन सकते हैं, जो आप चाहते हैं - नाश्ता, दोपहर का भोजन, रात का खाना,  डेसर्ट आदि।
faasos
  इसके इंटरफ़ेस का उपयोग करना सरल है और विभिन्न प्रकार से  भुगतान के तरीके उपलब्ध हैं। जब आप फासोस से ऑर्डर करते हैं तो आपको आकर्षक छूट भी मिलती  है। इसके  ऐप को प्लेस्टोर या ऐपस्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। इसके 50 लाख से अधिक इंसटाल्स हो चुके हैं और इसकी रेटिंग 4.1 है। 

5. फ्रेशमेनू (FreshMenu) -

रश्मि डोगरा द्वारा 2014 में जारी किया गया फ्रेशमेन फूड डिलीवरी ऐप, एक लोकप्रिय दैनिक फ़ूड ऑर्डरिंग मोबाइल ऐप के रूप में उभरा है। 

  इसकी खासियत यह है कि यहां आप प्रतिदिन नया मेनू देखते हैं। जिससे वही-वही मेनू देखने की बोरियत से बचे रहते हैं। कम्पनी का दावा है कि वे बेहतरीन शेफ द्वारा तैयार किए गए भोजन का वितरण करते हैं और  ताजे पदार्थों से निर्मित होने के कारण उनका भोजन स्वादिष्ट होता है। 

also read -

1.Signs of a liar- झूठ पकड़ने की 6 ट्रिक्स 

2.Places to visit in Lonawala and Khandala-लोनावला -खंडाला हिल स्टेशन

3.Benefits of coconut water-नारियल पानी के जबरदस्त लाभ
fresh-menu

   इस ऐप की मदद से आप अंतर्राष्ट्रीय फ़ूड जैसे जापान, मैक्सिको, थाईलैंड जैसे देशों में लोकप्रिय खाद्य पदार्थों का आर्डर करके उनका आनंद ले सकते हैं। इसके कार्यक्षेत्र के अंतर्गत वर्तमान में बैंगलोर, मुंबई, गुड़गांव और दिल्ली इनका केंद्र बिंदु है।FreshMenu ऐप का उपयोग करने पर लाइव ऑर्डर ट्रैकिंग और सुविधाजनक पेमेंट विकल्प प्रदान करता है। 

   आशा है ये आर्टिकल "Online Food Delivery-भारत के शीर्ष 5 फ़ूड डिलीवरी ऐप" आपको उपयोगी लगा होगा। इसे अपने मित्रों तक शेयर कर सकते हैं। अपने सवाल और सुझाव कमेंट बॉक्स में लिखें। 
ऐसी ही और भी उपयोगी जानकारी के लिए इस वेबसाइट पर विज़िट करते रहें। 

also read -

1.Counselling business ideas-काउंसलिंग से लाखों कमाएं 

2.Importance of Bell-पूजा में घंटी क्यों बजाते हैं?

3. 7 Tips to overcome mobile addiction-मोबाइल की लत से कैसे बचें  


No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad